एडवांस्ड सर्च

पंजाब: गांवों में मरे मिले 17 बैल, मौत की वजहों की जांच में पुलिस

पंजाब के अमृतसर के अलग-अलग गांवों में 17 बैल संदिग्ध अवस्था में मरे हुए पाए गए हैं. ये बैल अमृतसर देहाती जंडियाला गुरु के अंतर्गत आने वाले गांवों मालूवाल, देवीदासपुरा, फतेहपुर राजपूतां आदि जगहों पर पाए गए हैं.

Advertisement
सतेंदर चौहान [Edited By: भारत सिंह]अमृतसर, 13 March 2018
पंजाब: गांवों में मरे मिले 17 बैल, मौत की वजहों की जांच में पुलिस सांकेतिक तस्वीर

पंजाब के अमृतसर के अलग-अलग गांवों में 17 बैल संदिग्ध अवस्था में मरे हुए पाए गए हैं. ये बैल अमृतसर देहाती के जंडियाला गुरु के अंतर्गत आने वाले गांवों मालूवाल, देवीदासपुरा, फतेहपुर राजपूतां आदि जगहों पर पाए गए हैं.

गांव फतेहपुर की रोही के नजदीक भी 4 बैल, देवीदासपुरा के फाटक के नजदीक 2 बैल और चौहान गांव में 5 बैल, मालूवाल के नाले के पास 6 बैल मरे पाए गए हैं. मारे गए बैलों की कुल गिनती 17 है.

इस तरह मालूवाल और टांगरे के नजदीक के और भी गांवों में मरे हुए बैल मिले हैं. इतनी बड़ी संख्या में बैलों के मारे जाने का कारण किसी को पता नहीं है. बैलों के शरीर पर किसी तरह चोट के भी निशान नहीं मिले हैं.

जंडियाला गुरु के डीएसपी गुरप्रताप सिंह सहोता ने बताया सबसे पहले हमें मालूवाल गांव में 6 बैल मारे जाने की सूचना मिली थी. मौके पर पहुंचने पर पता चला कि 17 बैल अलग-अलग जगहों पर मारे हुए पाए गए हैं.

पुलिस ने वेटनरी विभाग के डॉक्टरों को बुला मौके पर मारे गए जानवरों का पोस्टमॉर्टम करवाया जा रहा है. फिलहाल फॉरेन्सिक रिपोर्ट आने का इंतजार है. इसके बाद ही इन बैलों के मारे जाने के कारणों का पता चल सकेगा और पूरी जानकारी मिल पाएगी.

इस बारे में अलग-अलग थानों में केस दर्ज किए गए हैं. स्थानीय पुलिस जांच कर रही है कि इन जानवरों की मौत किस वजह से हुई. DSP गुरप्रताप सिंह सहोता ने बताया कि मारे गए बैलों का पोस्टमॉर्टम करने के लिए टीमें पहुंच गई हैं. उसके बाद ही असलियत का पता लगेगा और आईपीसी की धारा 429 के तहत केस दर्ज किए घए हैं.

स्थानीय लोग भी यह देखकर हैरत में हैं कि इतनी बड़ी संख्या में बैलों के मारे जाने की क्या वजह है. गया गांव के निवासियों का कहना है कि अगर ये बैल इंसानी वजहों से मरे हैं तो यह बहुत ही निंदनीय है.

लोगों ने पुलिस और प्रशासन से मांग की है कि जल्दी ही गुनाहगारों को पकड़ा जाए और उन्हें सख्त सजा दी जाए. शिव सेना के ब्लॉक प्रधान रंजीत राजा कोटली ने पुलिस से अपील की है कि घटना के आरोपियों को जल्द पकड़ा जाए.

तहसीलदार बलजिंदर सिंह बाबा बकाला ने कहा कि पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई शरू कर दी है. जल्द ही इनकी मौत की जानकारी मिल जाएगी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay