एडवांस्ड सर्च

नवोदय स्कूल के शिक्षकों की शर्मनाक करतूत, छात्रों को बेल्ट और लाठी से पीटा

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में एक जवाहर नवोदय विद्यालय में छात्रों की पिटाई करने के मामले में पुलिस ने दो शिक्षकों के खिलाफ मारपीट करने, धमकी देने और मानसिक उत्पीड़न करने का मामला दर्ज किया है.

Advertisement
aajtak.in
परवेज़ सागर/ सुनील नामदेव कोरिया, 13 July 2018
नवोदय स्कूल के शिक्षकों की शर्मनाक करतूत, छात्रों को बेल्ट और लाठी से पीटा पुलिस मामले की छानबीन कर रही है

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में एक जवाहर नवोदय विद्यालय में छात्रों की पिटाई करने के मामले में पुलिस ने दो शिक्षकों के खिलाफ मारपीट करने, धमकी देने और मानसिक उत्पीड़न करने का मामला दर्ज किया है. इसके अलावा किशोर न्याय अधिनियम 2015 की धारा 75 की तहत भी शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. शिक्षकों ने सातवीं कक्षा के तीन विद्यार्थियों की बेल्ट और डंडों से जमकर पिटाई की थी. जिसमें बच्चे गंभीर चोटें आई हैं. आरोपी शिक्षक अब फरार हो गए हैं.

बैकुंठपुर के केनापारा स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में इन दिनों त्रैमासिक परीक्षाओं की तैयारियां जोरशोर से चल रही थी. बताया जाता है कि छात्र अच्छे नंबर लाए इसके लिए उन पर शिक्षकों ने पढ़ाई का दबाव बनाया हुआ था. इस दौरान बी.पी गुप्ता और जे.के चक्रवर्ती नामक शिक्षकों ने कई छात्रों को रोजाना पीटना शुरू कर दिया. इससे कई छात्र सहम गए.

इसके बाद कई छात्रों ने स्कूल से नदारद रहना ही मुनासिब समझा. बताया जाता है कि जवाहर स्कूल में दिन के अलावा रात्रि में भी छात्रों की पढाई पर जोर दिया जा रहा था. इसी कड़ी में बीती रात छात्रों को गणित विषय की पढ़ाई कराई जा रही थी. शिक्षण कार्य के दौरान अचानक बिजली गुल हो गई. क्लास रूम में अंधेरा छाते ही छात्र मैदान में निकल आए और खेल कूद में व्यस्त हो गए.

इसी दौरान एक शिक्षक बी.पी गुप्ता की स्कूल मैदान में खड़ी कार पर पत्थर लगने से स्क्रैच आ गई. यही नहीं किसी छात्र ने शरारत कर नंबर प्लेट में लिखे एक अंक को फाड़ दिया. दूसरे दिन शिक्षक को जब अपनी गाड़ी में स्क्रैच और नंबर प्लेट में छेड़छाड़ दिखाई दी तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर जा पहुंचा. उन्होंने छात्रों से पूछताछ की. इस दौरान उन्हें पता पड़ा कि जिस स्थान पर उनकी कार खड़ी थी, उस ओर तीन छात्र खेल कूद कर रहे थे.

गुस्से से तमतमाए दो शिक्षकों बी.पी. गुप्ता और जे.के. चक्रवर्ती ने लंच के बाद तीनों बच्चों को पहले परिसर में फिर अपने आवास में ले जाकर बेल्ट व डंडे से जमकर पीटा. पिटाई के बाद उन्होंने लगभग तीन घंटे तक बच्चों को कमरे में बंद करके रखा. बताया जा रहा है कि शिक्षकों की पिटाई से घायल तीनों छात्रों में से एक छात्र के पास मोबाइल था. उसने मोबाइल के माध्यम से घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी.

परिजन पहले शिक्षक के घर और फिर फ़ौरन स्कूल पहुंचे. स्कूल में प्राचार्य की गैरमौजूदगी के बाद उन्होंने घटना की शिकायत सिटी कोतवाली में दर्ज कराई. अभिभावकों ने बताया कि बच्चों को पीटने के बाद शिक्षकों ने धमकी भी दी है कि पिटाई की बात अगर उन्होंने किसी को बताई तो उन्हें उल्टा लटका कर मारेंगे.

इस घटना पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए नवोदय विद्यालय प्राचार्य एस. श्रीनिवास राव ने कहा कि शिक्षकों ने अपना आपा खो दिया था. इस घटना की जांच कराई जा रही है. प्राथमिक रूप से दोनों शिक्षकों की सेवाए समाप्त करने के लिए स्कूल प्रशासन को लिखा गया है.

उधर, बैकुंठपुर सिटी कोतवाली के इंस्पेक्टर रविंद्र अनंत के मुताबिक दोनों आरोपी शिक्षकों के खिलाफ धारा 323, 506, 342 और किशोर न्याय अधिनयम 2015 की धारा 75 के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. हालांकि दोनों शिक्षक अपने घर से फरार हो चुके हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. घायल बच्चों का उपचार किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay