एडवांस्ड सर्च

सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयास

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं. पायलट खेमे के 27 विधायक भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायक भी बीजेपी से जुड़ सकते हैं.

Advertisement
aajtak.in
हिमांशु मिश्रा नई दिल्ली, 12 July 2020
सचिन पायलट थाम सकते हैं BJP का हाथ, 30 विधायकों के भी कांग्रेस छोड़ने के कयास सचिन पायलट (फाइल फोटो)

  • सचिन पायलट बोले- मेरे साथ 30 विधायक
  • पायलट खेमे के विधायक भी बीजेपी से जुड़ सकते हैं

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो सकते हैं. सचिन पायलट अगर बीजेपी में शामिल होते हैं तो राजस्थान की गहलोत सरकार के लिए बड़ा झटका होगा. सूत्रों के मुताबिक, पायलट खेमे के 27 विधायक भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायक भी बीजेपी से जुड़ सकते हैं. सचिन पायलट ने दावा भी किया है कि 30 विधायक उनके साथ हैं.

सचिन पायलट के खेमे के विधायक अपना इस्तीफा आज देर रात विधानसभा अध्यक्ष को भेज सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, कल सुबह होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले आज देर रात सचिन पायलट के खेमे के विधायक अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को भेज सकते हैं.

ये भी पढ़ें- सचिन पायलट की खुली बगावत- बैठक में नहीं जाऊंगा, अल्पमत में है गहलोत सरकार

इससे पहले सचिन पायलट ने कहा कि वो कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नहीं शामिल होंगे. सोमवार सुबह 10.30 बजे विधायक दल की बैठक होनी है. सचिन पायलट दिल्ली में ही हैं. वो जयपुर नहीं जा रहे हैं. पायलट पार्टी आलाकमान से मुलाकात करने दिल्ली में हैं. लेकिन आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से उनकी मुलाकात नहीं हुई है.

सिंधिया से मुलाकात के बाद लगाए जाने लगे कयास

सचिन पायलट ने बीजेपी के नेता और अपने मित्र ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की. दोनों नेताओं की ये मुलाकात ज्योतिरादित्य सिंधिया के आवास पर हुई. ये मुलाकात 40 मिनट तक चली. इस मुलाकात के बाद कयास लगाए जाने लगे कि सचिन पायलट भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. हालांकि अभी तक आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें- ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर पायलट! 40 मिनट की मुलाकात पर लगीं अटकलें

मुलाकात के पहले सिंधिया ने सचिन पायलट के पक्ष में ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को दरकिनार किए जाने से मैं दुखी हूं. ये दिखाता है कि कांग्रेस में काबिलियत और क्षमता की कोई अहमियत नहीं है.

एक ओर जहां पायलट दिल्ली में हैं तो वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर में पार्टी विधायकों के साथ बैठक की. गहलोत खेमे ने भी 100 से अधिक विधायकों के समर्थन का दावा किया है. वहीं, बीजेपी की ओर से कहा जा रहा है कि वो सचिन पायलट के संपर्क में नहीं है. ये कांग्रेस का आंतरिक मामला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay