एडवांस्ड सर्च

नोटिस के बाद भी लोगों ने नहीं खाली की इमारत- शिवसेना, विपक्ष ने बताया लापरवाही

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि बिल्डिंग गिरना सरकार की लापरवाही दिखाता है. सरकार को लोगों की कोई चिंता नहीं है.

Advertisement
aajtak.in
मोहित ग्रोवर मुंबई, 31 August 2017
नोटिस के बाद भी लोगों ने नहीं खाली की इमारत- शिवसेना, विपक्ष ने बताया लापरवाही बिल्डिंग गिरने पर राजनीति शुरू

मुंबई के डोंगरी इलाके में बारिश और जलभराव के कारण 3 मंजिला इमारत गिर गई है. अभी तक इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 35 लोगों के घायल होने की खबर है. बिल्डिंग गिरने के बाद राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है. यह बिल्डिंग भिंडी बाजार के पास है.

अशोक चव्हाण का वार -

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने कहा कि बिल्डिंग गिरना सरकार की लापरवाही दिखाता है. सरकार को लोगों की कोई चिंता नहीं है.

BMC ने दिया था नोटिस -

वहीं हादसे के बाद शिवसेना नेता नीलम गोरे ने कहा कि इमारत को पहले ही खतरनाक घोषित किया जा चुका था, BMC ने इसको लेकर नोटिस भी जारी किया था. उन्होंने कहा कि नोटिस जारी होने के बाद भी लोगों ने बिल्डिंग को खाली नहीं किया.

LIVE: मुंबई में 3 मंजिला इमारत ढही, 3 की मौत, 11 घायल, 35 लोग मलबे में फंसे

घटनास्थल पर पहुंची NDRF

हादसे के बाद घटनास्थल पर NDRF की टीमें पहुंच गई है. यह हादसा सुबह 8.30 बजे हुआ था. फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां मौके पर हैं. स्थानीय लोग भी राहत एवं बचाव के काम में एजेंसियों की मदद कर रहे हैं.

मंगलवार को भी गिरा था मकान

इससे पहले मुंबई में मंगलवार को 298 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई थी. मूसलाधार बारिश की वजह से मुंबई के उपनगर विक्रोली में दो घरों के ढहने से दो बच्चों सहित तीन लोगों की मंगलवार को मौत हो गई थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay