एडवांस्ड सर्च

मंथन आजतक 2017: मोदी के बार-बार गुजरात दौरे से भड़के हुए हैं राज ठाकरे

राज ठाकरे ने कहा कि पिछले 25 साल से मैं राजनीति में सक्रिय हूं और मैंने किसी राज्य के चुनाव में किसी प्रधानमंत्री को इस तरह इनवॉल्व नहीं देखा. प्रधानमंत्री पिछले कुछ महीने में सात बार गुजरात जा चुके हैं.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
aajtak.in [Edited by: मोनिका गुप्ता]मुंबई, 26 October 2017
मंथन आजतक 2017: मोदी के बार-बार गुजरात दौरे से भड़के हुए हैं राज ठाकरे महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने आज मंथन आजतक 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. ठाकरे ने चुनाव से ठीक पहले मोदी के बार-बार गुजरात जाने पर सवाल उठाए. वे इस बात से खासतौर पर खफा दिखे कि बीजेपी राज्य के चुनावों में अपने धनबल-सत्ताबल का बड़े पैमाने पर प्रदर्शन कर रही है.

राज ठाकरे ने कहा कि पिछले 25 साल से मैं राजनीति में सक्रिय हूं और मैंने किसी राज्य के चुनाव में किसी प्रधानमंत्री को इस तरह इनवॉल्व नहीं देखा. प्रधानमंत्री पिछले कुछ महीने में सात बार गुजरात जा चुके हैं.

इस सवाल पर कि पीएम वहां अपनी सरकार के कामकाज गिनाने जाते हैं. राज ठाकरे ने कहा अगर उन्होंने काम किया है तो लोगों को मालूम होना चाहिए, उसमें गिनाने की जरूरत नहीं होती.

ठाकरे ने कहा कि पीएम को जितनी बार चाहें गुजरात जाने का अधिकार तो है लेकिन ये उनको शोभा नहीं देता. आज सोशल मीडिया पर ऐसे भी वीडियो हैं कि उनके भाषण के बीच सभा से लोग उठ-उठकर जा रहे हैं 2014-15 में ऐसा नहीं देखा जाता था.

राज ठाकरे ने कहा कि तमाम केंद्रीय मंत्री, दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री बीजेपी के लिए गुजरात में प्रचार कर रहे हैं. योगी आदित्यनाथ तो खाली सड़कों पर हाथ हिलाते नजर आ रहे थे.

हार्दिक पटेल द्वारा राज ठाकरे को अपना हीरो बताने पर खुद मनसे अध्यक्ष ने कहा कि मैंने हीरो वाली बात नहीं सुनी लेकिन हार्दिक पटेल का आना अच्छी बात है अगर यंगस्टर आ रहे हैं, युवा पीढ़ी राजनीति में आ रही है तो ये अच्छी बात है.

ताजमहल को लेकर उठे विवाद और आज योगी आदित्यनाथ के वहां के दौरे पर राज ठाकरे ने कहा कि बीजेपी के पास दिखाने को कुछ नहीं है तो वो ताजमहल जैसे विवाद पैदा करते हैं. ये सबको मालूम है कि वो कब्र है और सदियों से है लेकिन ताजमहल की तरफ देखने का आपका नजरिया कैसा है ये मायने रखता है. ताजमहल आर्किटेक्चर का खूबसूरत नमूना है. जिसे देखने देश-विदेश से लोग आते हैं. मुझे नहीं लगता कि आज ताजमहल जैसे मुद्दों पर लोग भावुक होंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay