एडवांस्ड सर्च

नवाब मलिक ने फडणवीस को घेरा, बोले- लोन की सलाह देने वाले की जरूरत नहीं

उन्होंने कहा कि फडणवीस ने उद्धव सरकार को ऋण कैसे प्राप्त किया जाए, इसकी सलाह दी थी. हमें ऐसे व्यक्ति से सलाह की आवश्यकता नहीं है, जिसने ऋण लिया हो और कर्ज में राज्य को डूबा दिया हो.

Advertisement
aajtak.in
साहिल जोशी मुंबई, 26 May 2020
नवाब मलिक ने फडणवीस को घेरा, बोले- लोन की सलाह देने वाले की जरूरत नहीं महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक (ANI)

  • पूर्व सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य सरकार पर उठाए सवाल
  • मलिक बोले- केंद्र का काम है राज्यों को धन आवंटित करना

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम मंगलवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्र द्वारा राज्य सरकार को दिए गए धन को उपलब्धि बता रहे थे, जबकि राज्यों को धन का आवंटन करना केंद्र का अनिवार्य कर्तव्य है.

उन्होंने कहा कि फडणवीस ने उद्धव सरकार को ऋण कैसे प्राप्त किया जाए, इसकी सलाह दी थी. हमें ऐसे व्यक्ति से सलाह की आवश्यकता नहीं है, जिसने ऋण लिया हो और कर्ज में राज्य को डूबा दिया हो.

नवाब मलिक ने कहा कि वह महाराष्ट्र में सरकार बनाने के इच्छुक नहीं हैं, लेकिन सच ये है कि वो बना नहीं सकते हैं. भाजपा नेताओं द्वारा फैलाया जा रहा है कि हमारी सरकार अस्थिर है, लेकिन हम स्थिर हैं और एकजुट होकर काम कर रहे हैं.

रेल मंत्री को कहा, बंद कीजिए गंदी राजनीति

रेल मंत्री पीयूष गोयल को घेरते हुए नवाब मलिक ने कहा कि आपने कहा था कि लोकमान्य तिलक टर्मिनस के प्रवासियों के लिए 49 ट्रेनें अलॉट की गई हैं, जबकि डीआरएम का कहना है कि केवल 16 ट्रेनें ही जारी की जा सकती हैं. इसलिए गंदी राजनीति और माइंड गेम बंद कीजिए और इस पर स्थिति साफ कीजिए. यहां लोग इस उम्मीद में इकट्ठा हुए कि सभी 49 ट्रेनें आपके वादे के मुताबिक चलाई जाएंगी.

बात दें कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में फडणवीस ने कहा था कि कोरोना काल में केंद्र सरकार गरीबों के कल्याण के लिए काम कर रही है, लेकिन केंद्र मदद नहीं कर रहा, राज्य में ऐसा माहौल बनाया जा रहा है.

महाराष्ट्र में सियासी हलचल तेज, पवार-उद्धव मिले, संजय राउत बोले- सरकार को खतरा नहीं

फडणवीस ने कहा कि 1148 करोड़ रुपये राज्य का टैक्स का हिस्सा था, लेकिन केंद्र ने 5 हजार 68 करोड़ रुपये दिए. श्रमिक ट्रेनों के जरिए प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए 300 करोड़ रुपये केंद्र ने दिया है. इस तरह केंद्र की ओर से राज्य को अब तक 28 हजार 704 करोड़ रुपये दिए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay