एडवांस्ड सर्च

शिवाजी की जयंती पर बोले CM उद्धव ठाकरे- साथ आने में कई साल बर्बाद कर दिए

महाराष्ट्र की राजनीति में उतार-चढ़ाव की स्थिति लगातार बनी हुई है. एक दिन पहले तक ऐसी चर्चा थी कि सत्तारुढ़ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच सबकुछ अच्छा नहीं चल रहा, लेकिन आज उद्धव ठाकरे ने गठबंधन को लेकर कहा कि साथ आने में कई साल लगा दिए.

Advertisement
aajtak.in
पंकज खेलकर मुंबई, 19 February 2020
शिवाजी की जयंती पर बोले CM उद्धव ठाकरे- साथ आने में कई साल बर्बाद कर दिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (PTI)

  • शिवाजी की 390वीं जयंती पर बोले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे
  • उद्धव बोले- हम मिलकर अच्छे काम करेंगे, यह मेरा वादा

महाराष्ट्र में कई मुद्दों पर सत्तारुढ़ शिवसेना की सहयोगी दलों के बीच बने मतभेद के इतर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमने कई साल बर्बाद कर दिए. साथ नहीं आने पर लंबा समय निकल गया, लेकिन अब हम एक साथ आ गए हैं और हम मिलकर सभी अच्छी चीजें करेंगे.

महान मराठा शासक छत्रपति शिवाजी महाराज की 390वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सहयोगी दलों के साथ मिलकर सरकार बनाने को लेकर बड़ा बयान दिया है.

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) साथ आए और मिलकर राज्य में महा विकास अघाड़ी (MVA) गठबंधन की सरकार बनाई तो आज भी कई लोग इसे पचा नहीं पा रहे.

'हमने कई साल बर्बाद किए'

उद्धव ठाकरे ने कहा, 'मैं कहता हूं कि हमने कई साल बर्बाद कर दिए. एक साथ आने में कई साल लग गए, लेकिन कोई बात नहीं. मैं पूरे महाराष्ट्र से यह वादा करना चाहता हूं कि अब हम एक साथ आ गए हैं. हम मिलकर सभी अच्छे काम करेंगे. यह मेरा वादा है.' उन्होंने कहा, 'मैं छत्रपति शिवाजी महाराज के जन्म स्थान पर यह शपथ लेता हूं.'

मुख्यमंत्री का यह बयान उस समय आया है जब माना जा रहा है कि महाराष्ट्र की राजनीति में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं.

इसे भी पढ़ें--- CAA पर शिवसेना और NCP में मतभेद? उद्धव ने किया समर्थन तो पवार बोले- हम खिलाफ

सरकार में मतभेद की खबर

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जहां सीएए का समर्थन किया तो एनसीपी चीफ शरद पवार ने कहा कि सीएए पर हम अपने रुख पर कायम हैं. इससे पहले दोनों के बीच एल्गार परिषद केस में मतभेद सामने आया था.

इसे भी पढ़ें--- चुनाव के दौरान शरद पवार-उद्धव ठाकरे की फोन टैपिंग! महाराष्ट्र सरकार ने दिए जांच के आदेश

उद्धव ठाकरे ने एक दिन पहले मंगलवार को कहा था कि सीएए और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) दोनों अलग-अलग हैं और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) भी अलग है. सीएए लागू होने पर किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है. राज्य में एनआरसी नहीं है और इसे लागू नहीं किया जाएगा. कांग्रेस भी सीएए और एनआरसी के खिलाफ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay