एडवांस्ड सर्च

Advertisement

BJP विधायक बोले- लड़की नहीं मानी तो अगवा कर करा दूंगा शादी

बीजेपी विधायक राम कदम के बयान पर सियासी बवाल मच गया है. विपक्षी दल एनसीपी ने सवाल उठाए हैं कि जब विधायक के ऐसे बोल हैं तो इनके राज में महिलाएं कैसे सुरक्षित रहेंगी.
BJP विधायक बोले- लड़की नहीं मानी तो अगवा कर करा दूंगा शादी बीजेपी विधायक राम कदम
शिवांगी ठाकुर [Edited By: विवेक पाठक]मुंबई, 04 September 2018

मुंबई के घाटकोपर से बीजेपी  विधायक राम कदम ने अपने विवादित बयान जिसमें उन्होंने युवाओं से कहा था कि अगर आपको लड़की पसंद है और और आपके मां बाप को भी लड़की पसंद है तो लड़की को भगाने में मैं आपकी मदद करूंगा, पर सफाई देते हुए कहा है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है.

दरअसल बीजेपी विधायक राम कदम का दही हांडी के एक कार्यक्रम के दौरान एक वीडियो सामने आया जिममें वे भीड़ को संबोधित करते हुए कहते सुने गए, "आप जिस लड़की को पसंद करते हैं, अगर वह आपके प्रस्ताव को ठुकराती है तो आप (युवा) मुझसे मिल सकते हैं.  मैं 100 फीसदी मदद करूंगा, अपने माता-पिता के साथ (मेरे पास) आइये. अगर माता-पिता इस पर रजामंदी देते हैं तो मैं क्या करूंगा? मैं उस लड़की का अपहरण कर लूंगा और उसे (शादी के लिये) आपके हवाले कर दूंगा."

राम कदम के इस विवादित बयान पर राजनीति गरमा गई और एनसीपी विधायक जितेंद्र आव्हाड ने उनके बयान पर अपना विरोध जताया और ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की. जितेंद्र आव्हाड ने ट्वीट में लिखा कि कैसे इनके राज्य में महिलायें सुरक्षित रह सकती हैं?

मामले को तूल पकड़ता देख 'आजतक' की टीम से राम कदम ने बातचीत में अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा, ''मेरे बयान को तोड़-मरोड़ के पेश किया जा रहा है. मेरा बयान केवल इतना ही था कि शादी करते समय मां-बाप की भी सुने और आगे का जो बयान वहां आया है वो मेरा नहीं है, वो वहां के युवाओं के माहौल के हिसाब से मैंने वो बात माइक पर कही"

राम कदम ने आगे कहा,"मेरी अपील लड़के और लड़कियों दोनों से थी. मेरा बयान लड़के-लड़की दोनों मां-बाप की बात माने ये था. भीड़ ने नीचे से कहा लड़की मानती नहीं या इस तरह के समय में क्या करें तो मैंने अपना मोबाइल नंबर देने वाला बयान दिया"

बयान को लेकर एनसीपी की आपत्ति पर राम कदम ने कहा, "अर्थ का अनर्थ किया गया है अधूरा बयान सुना गया है. मैंने कुछ गलत नहीं कहा. जिस बात पर आपत्ति है वो भीड़ को जवाब देने के लिए कहा गया है. NCP के पास मुद्दे बचे ही नहीं हैं इसलिए वो इसे तूल दे रहे हैं और इसका राजनीतिकरण कर रहे हैं."

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay