एडवांस्ड सर्च

पुणे में नशीली दवाओं की फैक्ट्री पर छापा, 5 करोड़ से ज्यादा की दवाएं जब्त

पुणे की एक दवा फैक्ट्री में छापे के दौरान 10.5 किलो मेफेड्रोन नाम की नशीली दवा बरामद हुई. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करीब 4.2 करोड़ रुपये है.

Advertisement
aajtak.in
दिव्येश सिंह पुणे, 20 February 2020
पुणे में नशीली दवाओं की फैक्ट्री पर छापा, 5 करोड़ से ज्यादा की दवाएं जब्त दवा की फैक्ट्री में रेड (फाइल फोटो)

  • पुणे की दवा फैक्ट्री में रेड, नशीली दवाएं जब्त
  • दवाएं तैयार करने वाला कच्चा माल भी बरामद

महाराष्ट्र पुलिस के एंटी टेररिज्म स्क्वॉड (ATS) ने गुरुवार को पुणे में एक दवा की फैक्ट्री में छापा मारा और वहां से भारी मात्रा में नशीली दवाएं जब्त कीं. जब्त सामग्री में नशीली दवाओं के अलावा ऐसी दवाएं तैयार करने वाला कच्चा माल भी बरामद हुआ है.

फैक्ट्री में इस छापे के दौरान 10.5 किलो मेफेड्रोन नाम की नशीली दवा बरामद हुई है. बताया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करीब 4.2 करोड़ रुपये है. जो कच्चा माल बरामद हुआ है उसकी कीमत करीब 1.2 करोड़ रुपये है.

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 100 करोड़

श्री अल्फा केमिकल्स नाम की यह कंपनी पुणे जिले के पुरंदर तालुका के दिवे गांव में स्थित है. एटीएस के अधिकारियों का कहना है कि फैक्ट्री से जो कच्चा माल बरामद हुआ है, उससे कम से कम 200 किलो मेफेड्रोन तैयार की जा सकती है, जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 100 करोड़ रुपये होती.

ये भी पढ़ें- दिल्ली: PM मोदी से मिले राम मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी, अयोध्या आने का दिया न्योता

एटीएस की जुहू यूनिट के पुलिस इंस्पेक्टर दया नायक की अगुआई में यह ऑपरेशन चलाया गया. एटीएस के अधिकारियों ने दिसंबर में मेफेड्रोन का निर्माण करने के आरोप में महेंद्र पाटिल और संतोष अदके को गिरफ्तार किया था. इन दोनों से पूछताछ ​में मिली जानकारियों के मुताबिक यह छापा मारा गया.

राज्य में बड़ी संख्या में युवा नशीली दवाओं की चपेट में हैं जिसे देखते हुए महाराष्ट्र एटीएस ने नशीली दवा बनाने वाली कंपनियों और ड्रग तस्करों पर नकेल कसने की पहल की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay