एडवांस्ड सर्च

मोदी लहर में जिसने महाराष्ट्र में लहराया परचम, उसे ओवैसी ने बनाया प्रदेश अध्यक्ष

औरंगाबाद से AIMIM के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीते इम्तियाज़ जलील को पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष बनाया है. देशभर में चली मोदी लहर के बीच भी इम्तियाज़ औरंगाबाद में जीत हासिल करने में सफल रहे थे.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 11 July 2019
मोदी लहर में जिसने महाराष्ट्र में लहराया परचम, उसे ओवैसी ने बनाया प्रदेश अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के साथ इम्तियाज जलील

महाराष्ट्र में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में राजनीतिक पार्टियों में हलचल तेज हो गई है. राज्य में एक नई ताकत की तरह उभर रही ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) ने बड़ा फैसला किया है. औरंगाबाद से AIMIM के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीते इम्तियाज़ जलील को पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष बनाया है. देशभर में चली मोदी लहर के बीच भी इम्तियाज़ औरंगाबाद में जीत हासिल करने में सफल रहे थे.

बता दें कि इससे पहले AIMIM की तरफ से सिर्फ उनके अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ही सांसद चुने जाते थे. लेकिन इस बार पार्टी के दो सांसद जीते हैं, ओवैसी हैदराबाद से तो वहीं इम्तियाज़ जलील औरंगाबाद से. अब जब विधानसभा चुनाव सामने आए हैं, तो उन्होंने प्रदेश यूनिट में बदलाव करना शुरू कर दिया है.

इम्तियाज़ जलील – महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष

अकीर मुजावर – पश्चिम महाराष्ट्र (प्रमुख)

नज़ीम शेख – विदर्भ (प्रमुख)

फिरोज़ लाला – मराठवाड़ा

आपको बता दें कि हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में इम्तियाज जलील ने इस सीट पर शिवसेना के चंद्रकांत खैरे को मात दी थी. वह करीब 5000 वोटों से जीते थे. औरंगाबाद को शिवसेना का गढ़ माना जाता था और राज्य में जिस तरह शिवसेना-बीजेपी के गठबंधन के पक्ष में मतदान हुआ, उसके बीच भी AIMIM यहां जीत का परचम लहराने में सफल रही थी.

हैदराबाद को AIMIM का गढ़ माना जाता रहा है, लेकिन उसके बाद अगर ओवैसी की अगुवाई में पार्टी ने किसी राज्य में पूरा जोर लगाया है तो वो महाराष्ट्र ही है. पिछले विधानसभा चुनाव में भी पार्टी को यहां पर कुछ सफलता मिली थी. यही कारण है कि इस बार भी पार्टी की ओर से जोर आजमाइश की जा रही है.

महाराष्ट्र में बीते दिनों राजनीतिक हलचल तेज हुई है. एक तरफ AIMIM ने ये फैसला लिया है तो वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे ने हाल ही में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. जिसके बाद कई तरह के कयास लगाए जाने लगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay