एडवांस्ड सर्च

मध्य प्रदेश: विभागों के बंटवारे में देरी, सीएम शिवराज बोले- कल कर दूंगा

हाल ही में मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ. इस विस्तार के तहत मध्य प्रदेश में कुल 28 नए मंत्रियों को शपथ दिलाई गई.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह भोपाल, 11 July 2020
मध्य प्रदेश: विभागों के बंटवारे में देरी, सीएम शिवराज बोले- कल कर दूंगा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो-पीटीआई)

  • मध्य प्रदेश में विभागों के बंटवारे में देरी
  • मध्य प्रदेश में 28 मंत्रियों ने ली थी शपथ

मध्य प्रदेश में मंत्रियों के विभागों के बंटवारे को लेकर देरी देखने को मिल रही है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से इस संबंध में निर्देश भी मांगे हैं. वहीं अब शिवराज सिंह का कहना है कि कल विभागों का बंटवारा हो जाएगा.

हाल ही में मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार हुआ. इस विस्तार के तहत मध्य प्रदेश में कुल 28 नए मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. हालांकि एक हफ्ते से ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी अब तक विभागों का बंटवारा नहीं किया गया है. इसको लेकर अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कल 12 जुलाई को विभागों का बंटवारा किए जाने की बात कही है.

यह भी पढ़ें: सरकार के सौवें दिन शिवराज का मंत्रिमंडल विस्तार, 28 नए मंत्रियों में 12 सिंधिया गुट के

बता दें कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिरने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इसके बाद जुलाई के शुरुआत में मंत्रिमंडल विस्तार किया गया. इसमें 28 मंत्रियों ने शपथ ली. जिसमें 20 कैबिनेट मंत्री और 8 राज्य मंत्री शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: MP में विभागों के बंटवारे को लेकर रस्साकशी, शिवराज ने बीजेपी लीडरशिप से मांगे निर्देश

मार्च में शिवराज सिंह चौहान के सीएम पद की शपथ लेने के बाद ये पहला मंत्रिमंडल विस्तार था, जिसमें कांग्रेस से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों की छाप दिखी. वहीं विभागों के बंटवारे में हो रही देरी को लेकर बीजेपी के टॉप सूत्रों का कहना है कि सीएम शिवराज अपने भरोसेमंद सहयोगियों के लिए गृह, स्वास्थ्य, वित्त, जल संसाधन, परिवहन और जनसंपर्क जैसे विभाग रखने के इच्छुक हैं.

सिंधिया की मांग

वहीं सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस से बीजेपी में आए सिंधिया इनमें से कई विभाग अपने विश्वासपात्रों को दिए जाने के लिए जोर लगा रहे हैं. पिछली कमलनाथ सरकार के दौरान सिंधिया समर्थकों के पास स्वास्थ्य, परिवहन, महिला और बाल विकास और स्कूली शिक्षा के विभाग थे. माना जा रहा है कि सिंधिया ने इन सभी विभागों को भी अपने समर्थकों को दिए जाने की मांग की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay