एडवांस्ड सर्च

शिवराज सरकार ने माफ किया बिजली बिल, मुखिया की मौत पर फैमिली को मुआवजा

चुनाव नजदीक आते ही सरकारें जनता को लुभाने के लिए लोकलुभावनी घोषणाओं और योजनाओं का ऐलान शुरू कर देती हैं. ऐसी ही कुछ लुभावनी योजनाओं की शुरुआत मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार ने की है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: सुरेंद्र कुमार वर्मा]नई दिल्ली, 13 June 2018
शिवराज सरकार ने माफ किया बिजली बिल, मुखिया की मौत पर फैमिली को मुआवजा शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

चुनाव नजदीक आते ही सरकारें जनता को लुभाने के लिए लोकलुभावनी घोषणाओं और योजनाओं का ऐलान शुरू कर देती हैं. ऐसी ही कुछ लुभावनी योजनाओं की शुरुआत मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार ने की है.

साल के अंत में मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले शिवराज सिंह चौहान ने गरीबों पर नजरें इनायत करते हुए बिजली के बिल माफ करने का ऐलान किया और हादसे में मारे जाने वाले गरीबों को मुआवजा देने की घोषणा की.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि हमारे गरीब भाईयों-बहनों के लिए जुलाई-अगस्त में बिजली कैंप लगाए जाएंगे जिसमें उन लोगों के बिजली बिल भी माफ किए जाएंगे.

साथ ही उन्होंने कहा कि हर महीने के लिए गरीब परिवार को अब महज 200 रुपये बिल के रूप में देने होंगे.

सीएम शिवराज ने एक और लुभावनी घोषणा का ऐलान करते हुए कहा कि अगर किसी गरीब परिवार के मुखिया की मौत 60 साल की उम्र से पहले हो जाती है तो उनके परिजन को मुआवजा के तौर पर 2 लाख रुपये दिए जाएंगे.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर किसी हादसे में गरीब परिवार के मुखिया की मौत होती है तो उसके परिवारवालों को 2 लाख की जगह 4 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा.

शिवराज 2005 में राज्य के मुख्यमंत्री बने थे और तब से लेकर अभी तक सत्ता में बने हुए हैं. पिछले 13 साल से मुख्यमंत्री रहे शिवराज ने अपने दम भारतीय जनता पार्टी को 2 बार (2008 और 2013) विधानसभा चुनाव जीतवा चुके हैं और उनकी कोशिश है कि पार्टी इस बार भी चुनाव जीतकर सत्ता में बनी रही.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay