एडवांस्ड सर्च

MP चुनाव: पन्ना से विधायक हैं मंत्री कुसुम सिंह, कांग्रेस करेगी वापसी?

मध्य प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं में शुमार कुसुम सिंह महदेले लंबे वक्त से राजनीति में हैं. 75 वर्षीय कुसुम सिंह दो बार मध्य प्रदेश बीजेपी की उपाध्यक्ष और तीन बार कैबिनेट मंत्री रह चुकी हैं.

Advertisement
aajtak.in
अनुग्रह मिश्र नई दिल्ली, 17 September 2018
MP चुनाव: पन्ना से विधायक हैं मंत्री कुसुम सिंह, कांग्रेस करेगी वापसी? मंत्री कुसुम सिंह महदेले

मध्य प्रदेश की पन्ना सीट पर फिलहाल बीजेपी का कब्जा है और यहां शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री कुसुम सिंह महदेले विधायक हैं. इस सीट पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला है लेकिन इस बार चुनावी समीकरण बदल सकते हैं.

राज्य में साल 1951 से अस्तित्व में आई पन्ना सीट पर 2.17 लाख मतदाता हैं और यह सीट खुजराहो लोकसभा के अतंर्गत आती है. पन्ना में चुनावी गतिविधियां तेज हो गई हैं क्योंकि यहां से न सिर्फ बीजेपी-कांग्रेस बल्कि समाजवादी पार्टी और बसपा भी ताल ठोकने को तैयार हैं.

2013 चुनाव के नतीजे

साल 2013 के विधानसभा चुनाव में पन्ना विधानसभा सीट पर बीजेपी की कुसुम सिंह का मुकाबला बीएसपी के महेंद्र पाल वर्मा से था. लेकिन इस चुनाव में कुसुम सिंह ने एकतरफा जीत दर्ज करते हुए विरोधी प्रत्याशी को 29 हजार वोटों से शिकस्त दी. नतीजों में कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही, जिसे 16 फीसद वोट मिले. समाजवादी पार्टी ने भी यहां पर 10 फीसद वोट जुटाए थे.

2008 चुनाव के नतीजे

कांग्रेस के श्रीकांत दुबे ने 2008 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की कुसुम सिंह को मामूली अंतर से मात दी थी. बीजेपी की कुसुम सिंह सिर्फ 42 वोटों से यह चुनाव हार गईं थी. समाजवादी पार्टी ने इस चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करते हुए करीब 20 हजार (18 फीसदी) वोट हासिल किए थे.

कौन ने MLA कुसुम सिंह

मध्य प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं में शुमार कुसुम सिंह महदेले लंबे वक्त से राजनीति में हैं. 75 वर्षीय कुसुम सिंह दो बार मध्य प्रदेश बीजेपी की उपाध्यक्ष और तीन बार कैबिनेट मंत्री रह चुकी हैं. पूर्व की बाबूलाल गौर सरकार में कुसुम सिंह के पास महिला एवं बाल विकास और राजस्व विभाग था. इसके बाद 2005 और फिर 2013 की शिवराज सरकार में मंत्री रही हैं.

मध्यप्रदेश में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच है. 2003 से बीजेपी की सरकार है. इससे पहले 10 साल तक कांग्रेस ने राज किया था. 2013 के विधानसभा चुनाव में कुल 230 विधानसभा सीटों में से बीजेपी ने 165 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी. कांग्रेस 58 सीटों तक सिमट गई थी. जबकि बसपा ने 4 और अन्य ने 3 सीटों पर जीत हासिल की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay