एडवांस्ड सर्च

MP: कमलनाथ के मंत्री ने कहा 'सिंधिया जी के साथ मैं भी मैदान में आऊंगा'

पिछले हफ्ते टीकमगढ़ में एक सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि अतिथि शिक्षकों से जो वचन कांग्रेस ने चुनाव के समय किया था वो हमारे लिए ग्रंथ है और उसे पूरा करेंगे.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह भोपाल, 18 February 2020
MP: कमलनाथ के मंत्री ने कहा 'सिंधिया जी के साथ मैं भी मैदान में आऊंगा' ज्योतिरादित्य सिंधिया और सीएम कमलनाथ के बीच चल रही है अदावत (फाइल फोटो)

  • सिंधिया के कट्टर समर्थकों में से एक हैं खाद्य मंत्री तोमर
  • सिंधिया और कमलनाथ के बीच सब ठीक नहीं चल रहा

पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सड़क पर उतरने वाले बयान को अब कमलनाथ सरकार के मंत्री का भी साथ मिल गया है. कमलनाथ सरकार में खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मंगलवार को ग्वालियर में कहा, 'सिंधिया जी ने सरकार को अगर आगाह किया है तो बिल्कुल ठीक किया है. आप अकेले नहीं हैं मैं भी आपके साथ मैदान में आऊंगा.'

खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने आगे कहा कि 'श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी का स्पष्ट कहना है कि जो वचन हमने दिए हैं, उन वचनों को हमने पूरा नहीं किया तो आप खुद को अकेला मत समझना मैं भी मैदान में आऊंगा. अगर कोई कमियां हैं तो कमियां कौन सुधार करता है? और कमियां सुधार करने के लिए श्रीमंत सिंधिया जी ने सरकार को जो आगाह किया है तो मैं कहता हूं बिल्कुल ठीक किया है.'

खाद्य मंत्री ने सिंधिया के छुए थे पैर

दरअसल, प्रद्युम्न तोमर कमलनाथ सरकार के उन मंत्रियों में शुमार हैं जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के कट्टर समर्थकों में से एक हैं. इससे पहले भी कई मौकों पर वो सिंधिया का न केवल समर्थन करते देखे जा चुके हैं बल्कि एक बार ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर उन्होंने सबके सामने ज्योतिरादित्य सिंधिया के पैर भी छुए थे.  

जामिया हिंसा केसः DCP राजेश देव की अगुवाई में यूनिवर्सिटी पहुंची SIT

बता दें कि पिछले हफ्ते टीकमगढ़ में एक सभा के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था 'अतिथि शिक्षकों से जो वचन कांग्रेस ने चुनाव के समय किया था वो हमारे लिए ग्रंथ है और उसे पूरा करेंगे. आपकी मांग मैंने चुनाव के पहले भी सुनी थीं. मैंने आपकी आवाज उठाई थी और ये विश्वास मैं आपको दिलाना चाहता हूं कि आपकी मांग जो हमारी सरकार के घोषणापत्र में अंकित है वो घोषणापत्र हमारे लिए हमारा ग्रंथ है.'

वाराणसी से PM मोदी के निर्वाचन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे पूर्व जवान तेज बहादुर

सीएम कमलनाथ ने दिया था जवाब

सिंधिया के बयान के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसका जवाब दिया था. दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गुस्से में दो टूक जवाब देते हुए कहा कि 'तो वो उतर जाएं.' इसके बाद माना जा रहा था कि सिंधिया और कमलनाथ के बीच सब ठीक नहीं चल रहा है. वहीं, कमलनाथ के बयान के बाद सिंधिया ने फिर इसी बात को दोहराया था कि सरकार वचनपत्र में दिए गए वचनों को पूरा नहीं करती है तो सड़क पर उतरना ही पड़ेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay