एडवांस्ड सर्च

MP: मजदूरों को ₹ 1000 मदद,पेंशनर्स को 2 माह का एडवांस देगी शिवराज सरकार

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंस‍िंग के जरिए सूबे के तमाम आला अधिकारियों से संवाद किया. इसी दौरान मुख्‍यमंत्री ने सभी प्रकार की सामाजिक सुरक्षा पेंशन का दो माह का एडवांस भुगतान करने और प्रदेश में प्रति मजदूर को 1000 रुपए की सहायता देने का ऐलान किया.

Advertisement
aajtak.in
कुबूल अहमद नई दिल्ली/भोपाल, 26 March 2020
MP: मजदूरों को ₹ 1000 मदद,पेंशनर्स को 2 माह का एडवांस देगी शिवराज सरकार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

  • MP में मध्यान्ह भोजन योजना का पैसा बच्चों के खाते में
  • आदिवासियों को दो माह की पेंशन योजना का लाभ
  • MP में कोरोना संक्रमण का मुफ्त इलाज करेगी सरकार

मध्य प्रदेश की सत्ता की कमान संभालते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सक्रिय हो गए हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों को लेकर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंस‍िंग के जरिए सूबे के तमाम आला अधिकारियों से संवाद किया. इसी दौरान मुख्‍यमंत्री ने सभी प्रकार की सामाजिक सुरक्षा पेंशन का दो माह का एडवांस भुगतान करने और प्रदेश में प्रति मजदूर को 1000 रुपए की सहायता देने का ऐलान किया.

46 लाख पेंशनर्स को दो माह का एडवांस

शिवराज सिंह ने कहा कि लॉकडाउन के कारण उत्पन्न होने वाली स्थिति और इससे प्रभावित वर्गों के लिए सहायता पैकेज देने का निर्णय लिया. प्रदेश के 46 लाख पेंशनर्स को 600 रु. प्रतिमाह सामाजिक सुरक्षा योजना अंतर्गत रुपए 275 करोड़ प्रतिमाह भुगतान किया जा रहा है. इसमें सामाजिक सुरक्षा पेंशन, विधवा पेंशन, वृद्धा अवस्था पेंशन निराश्रित पेंशन इत्यादि का दो माह का एडवांस भुगतान किया जाएगा. इस तरह से लाभार्थी को 2 माह की पेंशन मिलेगी.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: डॉक्टर का दावा- भारत में इस वजह से नहीं बढ़ेगा डेथ रेट

आदिवासियों को 2 हजार की सहायता

सीएम ने मध्य प्रदेश में जनजातियों के परिवारों के खातों में दो माह की एडवांस राशि देने का ऐलान किया है. सूबे में सहरिया, बैगा और भारिया जनजातियों के परिवारों के बैंक खातों में दो माह की एडवांस राशि 2,000 रूपये उपलब्ध कराई जाएगी. सरकार के इसके लिए 2 करोड़ 20 लाख राशि आवांटित की है.

मजदूरों को 1000 रुपये देगी शिवराज सरकार

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के खिलाफ किए लॉकडाउन में गरीबों,दिहाड़ी मजदूरों के खाने-पीने का हरसंभव इंतजाम हम कर रहे हैं. संनिर्माण कर्मकार मंडल के अंतर्गत मजदूरों को लगभग 8.25 लाख रुपये की सहायता प्रति मजदूर 1000 रुपये के हिसाब से उपलब्ध करायी जाएगी.

मध्यान्ह भोजन का विद्यार्थियों के खाते में पैसा

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्कूल बंद होने से मध्यान्ह भोजन योजना का लाभ बच्चों को नहीं मिल पा रहा है. अप्रैल 2020 तक का खाद्यान्न रिलीज किया जा चुका है, इसे अब पीडीएस अन्तर्गत राशन दुकानों को उपलब्ध कराया जाएगा. इसके फलस्वरूप कुल 65 लाख 91 हजार विद्यार्थियों के खाते में मध्यान्ह भोजन की 156 करोड़ 15 लाख रुपये की राशि का वितरण किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन के बीच देश में बढ़े कोरोना के पॉजिटिव मामले, अबतक 682 केस आए सामने

शिवराज सरकार ने प्राथमिक विद्यालय के 60.81 लाख विद्यार्थियों को 155 रु. प्रति विद्यार्थी की दर से 94.25 करोड़ रुपये और माध्यमिक विद्यालय के 26.68 लाख विद्यार्थियों को 232 रु. प्रति विद्यार्थी की दर से 61.90 करोड़ देने का ऐलान किया है.

कोरोना का MP में निशुल्क इलाज

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह ने ऐलान किया है कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव पाए जाने वाले का शासकीय हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज में नि:शुल्क इलाज किया जाएगा. चिन्हित प्राइवेट मेडिकल कॉलेज और प्राइवेट हॉस्पिटल में भी‍ नि:शुल्क इलाज सभी वर्गों के लिए उपलब्ध रहेगा. प्राइवेट अस्पतालों को आयुष्मान भारत में निर्धारित दरों के हिसाब से भुगतान किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में पंच-परमेश्वर योजना की प्रशासनिक मद में राशि उपलब्ध है. इस राशि को कोरोना के नियंत्रण और लॉकडाउन के चलते आश्रय और भोजन के लिए परेशान लोगों की मदद के लिए किया जाएगा. साथ ही कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में ऐसे लोग हो सकते है, जिन्हें लॉकडाउन के कारण भोजन की व्यवस्था करने में कठिनाई आ रही हो, ऐसी स्थिति में स्वयं सेवी संस्थाओं आदि को प्रेरित कर भोजन के पैकेट बनवाये जाएं और वितरण की व्यवस्था की जाये, ताकि प्रदेश में कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay