एडवांस्ड सर्च

MP: रेप के बाद हत्या मामले में न्याय के लिए शिवराज का धरना, कांग्रेस ने बताया दिखावा

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश में लगातार हो रहे दुष्कर्म के मामलों पर सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सरकार का ध्यान ट्रांसफर-पोस्टिंग में है लेकिन अपराधियों के खात्मे के लिए सरकार प्रयास नहीं कर रही है.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह भोपाल, 09 December 2019
MP: रेप के बाद हत्या मामले में न्याय के लिए शिवराज का धरना, कांग्रेस ने बताया दिखावा शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ से की मुलाकात

  • शिवराज सिंह ने दुष्कर्म के मामलों पर सरकार को घेरा
  • बच्ची की हत्या का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की मांग

हैदराबाद और उन्नाव रेप कांड के बाद अब मध्य प्रदेश में भी नाबालिग बच्ची से रेप के बाद हत्या के मामले में आरोपियों को जल्द सज़ा दिलाने की मांग तेज़ होने लगी है. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को प्रदर्शन करते हुए इसी साल अप्रैल में भोपाल की मनुआभान टेकरी पर बच्ची की हत्या का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने और जल्द से जल्द सज़ा दिलाने की मांग की. प्रदर्शन में पीड़ित परिवार भी शामिल रहा.

पीड़ित परिवार के साथ सीएम हाउस तक निकाला मार्च

रोशनपुरा चौराहे पर हुए इस प्रदर्शन के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश में लगातार हो रहे दुष्कर्म के मामलों पर सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सरकार का ध्यान ट्रांसफर-पोस्टिंग में है लेकिन अपराधियों के खात्मे के लिए सरकार प्रयास नहीं कर रही है. प्रदर्शन के बाद पूर्व सीएम शिवराज ने पीड़ित परिवार और बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ रोशनपुरा चौराहे से सीएम हाउस तक पैदल मार्च निकाला. हालांकि थोड़ा आगे बढ़ने के बाद पुलिस ने बाणगंगा चौराहे पर बैरिकेडिंग कर सबको रोक लिया.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिया आश्वासन

इसके बाद शिवराज अपने साथ पीड़ित परिवार को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिले और जल्द न्याय की मांफ करते हुए केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की मांग की. जिस पर सीएम कमलनाथ ने पीड़ित परिवार को मामला फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में चलवाने का आश्वासन दिया.

कांग्रेस ने बताया दिखावा

शिवराज के प्रदर्शन को कांग्रेस ने दिखावा बताया है. मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने शिवराज सिंह चौहान के धरने को दुष्कर्म जैसे संवेदनशील विषय पर की जा रही राजनीतिक नौटंकी बताते हुए कहा है कि यदि शिवराज सिंह ऐसे मुद्दों पर थोड़े भी संवेदनशील होते तो उनके मुख्यमंत्रित्व काल में 47000 से अधिक महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं नहीं हुई होतीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay