एडवांस्ड सर्च

MP: सीएम कमलनाथ बोले- हिंदू धर्म को खतरे में बताकर भावनाएं भड़काती है BJP

मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने कहा है कि भाजपा ने जो काम 15 सालों में नहीं किए, वह काम कांग्रेस की सरकार 15 माह में करके दिखाएगी. बीते 8 महीने इस बात की गवाही देते हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in झाबुआ, 09 October 2019
MP: सीएम कमलनाथ बोले- हिंदू धर्म को खतरे में बताकर भावनाएं भड़काती है BJP मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (फाइल फोटो)

  • झाबुआ विधानसभा सीट पर होना है उपचुनाव
  • चुनावी जनसभा में मुख्यमंत्री ने दिया बयान 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा कि वोट पाने के लिए भाजपा भावनाओं को भड़काती है और कहा जाता है कि 'हिंदू धर्म खतरे में है'. बुधवार को राज्य की झाबुआ विधानसभा सीट के उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया के समर्थन में आयोजित रोड शो में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हिस्सा लिया और उसके बाद एक जनसभा को संबोधित किया.

कमलनाथ ने कहा, 'भाजपा ने जो काम 15 सालों में नहीं किए, वह काम कांग्रेस की सरकार 15 माह में करके दिखाएगी. बीते 8 महीने इस बात की गवाही देते हैं. चुनाव से पहले जो वादे किए गए, चाहे किसान कर्जमाफी हो, सामाजिक सुरक्षा पेंशन हो, सभी को पूरा किया गया.'

बीजेपी का मुंह बहुत चलता हैः सीएम

उन्होंने आगे कहा, 'भाजपा का काम सिर्फ झूठ बोलना है. इनका तो मुंह बहुत चलता है. सिर्फ बोलते जाएंगे, गुमराह करते जाएंगे. भावनाएं बहाएंगे और कहेंगे कि हिंदू धर्म खतरे में है और आगे कुछ नहीं बताएंगे. यह इनकी ध्यान मोड़ने की राजनीति है. वे सच्चाई से आपका ध्यान मोड़ना चाहते हैं.'

कमलनाथ ने कांग्रेस की नीतियों का जिक्र करते हुए कहा, 'कांग्रेस वह पार्टी है, जो गरीब और कमजोर वर्ग के बारे में सोचती है, जबकि भाजपा ऐसी पार्टी है, जो बड़े व्यापारियों के लिए सोचती है. यही कारण है कि भाजपा का बड़ा झंडा बड़े कारोबारी, व्यापारी या बड़े आदमी के घर नजर आएगा. दोनों ही दलों की सोच में अंतर है.'

वोट मांगने वालों से विकास का हिसाब जरूर मांगे

राजधानी मुख्यालय से लगभग 400 किलोमीटर दूर आदिवासी बाहुल्य जिले की स्थिति का जिक्र करते हुए कमलनाथ ने कहा कि वह इस क्षेत्र का छिंदवाड़ा जैसा विकास करना चाहते हैं और इसके लिए उन्हें अवसर चाहिए. भाजपा के 15 सालों के राज्य के शासन पर कमलनाथ ने कहा, 'जब केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार थी तब राज्य सरकार से विभिन्न योजनाओं और विकास के लिए केंद्र से धनराशि ले जाने को कहा जाता था, लेकिन तत्कालीन राज्य सरकार धनराशि नहीं लाती थी. जब भाजपा के नेता प्रचार करने आए तो उनसे 15 सालों के विकास का हिसाब जरूर मांगना.

21 अक्टूबर को होनी है वोटिंग

बता दें कि झाबुआ में 21 अक्टूबर को उपचुनाव के लिए मतदान होना है. कांग्रेस ने यहां से पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया को उम्मीदवार बनाया है. वहीं, भाजपा ने भानु भूरिया को मैदान में उतारा है. यहां के विधायक रहे जी. एस. डामोर के सांसद निर्वाचित होने पर यहां उपचुनाव हो रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay