एडवांस्ड सर्च

कमलनाथ ने फिर मांगा सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत, पूछा- कितने मरे

कमलनाथ ने कहा कि देश की सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की, इस पर किसी को कोई शक नहीं है, मगर सर्जिकल स्ट्राइक में क्या हुआ है, देश के लोगों को बताया जाए.

Advertisement
aajtak.in
हेमेंद्र शर्मा भोपाल, 21 February 2020
कमलनाथ ने फिर मांगा सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत, पूछा- कितने मरे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो-PTI)

  • सर्जिकल स्ट्राइक पर संदेह नहीं पर कितने मरे?
  • इसके बारे में लोगों को जानना चाहिए- कमलनाथ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पाकिस्तानी आतंकवादियों के खिलाफ मोदी सरकार की सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर फिर से सबूत मांगा है. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि मुझे इसे लेकर संदेह नहीं है, लेकिन लोगों को इसके बारे में जानना चाहिए. लोग यह जानना चाहते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक में कितने लोग मारे गए थे.

कमलनाथ ने गुरुवार को सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल पूछा था. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाते हुए कहा कि इंदिरा गांधी सरकार थी, जब 90 हजार पाकिस्तानी जवानों ने सरेंडर किया था, ये उसकी बात नहीं करेंगे, कहते हैं मैंने सर्जिकल स्ट्राइक की, कौन सी सर्जिकल स्ट्राइक की.

ये भी पढ़ेंः मोदी सरकार से कमलनाथ ने पूछा- कौन सी सर्जिकल स्ट्राइक की, खुलकर बताइए

छिंदवाड़ा में कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवराज श्रेय की राजनीति करते हैं. उनका मुंह बहुत चलता है और झूठ बोलने के लिए चलता है. वहीं, मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कमलनाथ ने कहा कि इन्होंने कौन सी सर्जिकल स्ट्राइक की, कब की, देश को खुलकर बताइए.

ये भी पढ़ेंः सिंधिया से समर्थकों की अपील- पिता की तर्ज पर कांग्रेस से अलग बनाएं नई पार्टी

कमलनाथ ने कहा, "देश की सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की, इस पर किसी को कोई शक नहीं है, मगर सर्जिकल स्ट्राइक में क्या हुआ है, देश के लोगों को बताया जाए. इस सर्जिकल स्ट्राइक में क्या हुआ, कहां हुआ, कैसे हुआ, उसका क्या परिणाम था. सिर्फ कह देना कि सर्जिकल स्ट्राइक हुई, इससे काम नहीं चलेगा."

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध का जिक्र करते हुए कहा, "इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान के 92 हजार सैनिकों का आत्मसमर्पण कराया था, उन्हें गिरफ्तार किया था, वो अपनी जगह है. उसी तरह इस सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में देश के लोगों को जानकारी मिलनी चाहिए कि कहां हुआ, क्या हुआ, क्या परिणाम हुआ, मैं तो सिर्फ यह बात कह रहा हूं."

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay