एडवांस्ड सर्च

सिंधिया से समर्थकों की अपील- पिता की तर्ज पर कांग्रेस से अलग बनाएं नई पार्टी

मध्य प्रदेश कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच वर्चस्व की जंग कम होने का नाम नहीं ले रही है. इन सबके बीच सिंधिया के समर्थकों ने उन्हें माधवराव सिंधिया के तर्ज पर नई राजनीतिक पार्टी बनाने की आपील की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 20 February 2020
सिंधिया से समर्थकों की अपील- पिता की तर्ज पर कांग्रेस से अलग बनाएं नई पार्टी कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया

  • मध्य प्रदेश कांग्रेस में सियासी वर्चस्व की जंग तेज
  • सिंधिया समर्थकों ने नई पार्टी बनाने की मांग की

मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं बल्कि बढ़ती ही जा रही हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों ने उन्हें कांग्रेस से नाता तोड़कर अलग पार्टी बनाने की मांग की है. सिंधिया के समर्थकों ने कहा जिस प्रकार माधवराव सिंधिया ने अपनी पार्टी बनाई थी उसी तर्ज पर और उसी पुराने पार्टी के चुनाव निशान उगता सूरज को दोबारा से जीवित करें.

मध्य प्रदेश की कांग्रेस महिला महासचिव रुचि ठाकुर (गुप्ता) ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल किस तरह से चुनाव जीता है तो हमारे महाराज (ज्योतिरादित्य सिंधिया) तो उनसे हजार गुना ऊपर हैं. इस संबंध में एक पोस्टर बनाकर भी सिंधिया समर्थकों ने सोशल मीडिया पर वायरल किया है और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और सिंधिया को भेजा है.

ये भी पढ़ें: सिंधिया ने दिल्ली की हार को बताया निराशाजनक, कहा- नई विचारधारा की जरूरत

मध्य प्रदेश में सिंधिया समर्थक मंत्रियों के बाद अब कार्यकर्ता नेता भी फ्रंट में आकर मोर्चा खोल चुके हैं. रुचि ठाकुर ने कहा कि 2018 से हम सबके आदर्श सिंधिया को पार्टी में साइड लाइन किया जा रहा है. उन्होंने कहा, 'माफ करो शिवराज' का नारा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया था, जिसकी वजह से राज्य में कांग्रेस की सरकार आई. सिंधिया पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान से हम सभी आहत हैं.

ये भी पढ़ें: कमलनाथ के मंत्री ने कहा 'सिंधिया जी के साथ मैं भी मैदान में आऊंगा'

मध्य प्रदेश की कांग्रेस महिला महासचिव ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के नई पार्टी बनाने पर लाखों कार्यकर्ता उनके साथ खड़े होंगे. राज्य सरकार में कई मंत्री उनके साथ हैं और नई पार्टी बनाने पर भी साथ रहेंगे. दिल्ली में केजरीवाल जब पार्टी बनाकर चुनाव जीत सकता है तो ज्योतिरादित्य सिंधिया का आधार तो और भी ज्यादा है तो वो क्यों नहीं जीत सकते हैं.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay