एडवांस्ड सर्च

लड़की ने की खुदकुशी, मां-भाई ने पिता पर लगाए गंभीर आरोप

मध्य प्रदेश के छतरपुर के शांतिनगर कॉलोनी में एक लड़की ने खुदकुशी कर ली. उसकी मौत का आरोप उसके सगे पिता पर लगा है. लड़की के मां और भाई का आरोप है कि पिता उमाशंकर खरे की गंदी हरकतों की वजह से बहन ने खुदकुशी की है. पिता समलैंगिक (गे) है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: मुकेश कुमार]छतरपुर (मध्य प्रदेश), 29 May 2015
लड़की ने की खुदकुशी, मां-भाई ने पिता पर लगाए गंभीर आरोप आस्था खरे (फाइल) और उसका पिता उमाशंकर खरे

मध्य प्रदेश के छतरपुर के शांतिनगर कॉलोनी में एक लड़की ने खुदकुशी कर ली. उसकी मौत का आरोप उसके सगे पिता पर लगा है. लड़की के मां और भाई का आरोप है कि पिता उमाशंकर खरे की गंदी हरकतों की वजह से बहन ने खुदकुशी की है. पिता समलैंगिक (गे) है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक, आस्था खरे नाम की यह लड़की 10वीं की छात्रा थी. बुधवार की देर शाम उसने अपने घर में फांसी लगा ली. गुरुवार को उसका पोस्टमॉर्टम हुआ. लड़की की मां ओमलता टीचर हैं. वह किसी शादी में शामिल होने चित्तौड़गढ़ (राजस्थान) गई हुई थीं. घटना की जानकारी मिलते ही वह गुरुवार की सुबह छतरपुर लौटी आईं. उन्होंने भी अपने पति पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

मृतका के भाई उज्ज्वल खरे के मुताबिक, बहन की मौत के लिए जिम्मेदार उसके पिता है. उनकी गंदी हरकतों की वजह से पूरा परिवार परेशान था. वह घर में लड़कों को लेकर आते थे. उनके साथ गलत काम करते थे. उन्ही में कुछ लड़के बहन से भी छेड़छाड़ करते थे. यहां तक उसके पिता भी अपनी बेटी के साथ कई बार गंदी हरकतें करते थे.
 
मृतका की मां के मुताबिक, उसकी बेटी का हत्यारा उसका पति ही है. पूरे परिवार को उससे जान का खतरा है. ऐसी गंदी हरकतें करने से कई बार मना किया, लेकिन वह नहीं माना. बोलने पर सबको मारता-पीटता था. सभी उससे डरते हैं. पूरी कॉलोनी उससे परेशान है.

11 भाइयों में इकलौती बहन थी आस्था
उमाशंकर के भाई राघवेंद्र खरे बताते हैं कि वे और चचेरे मिलाकर कुल 11 भाई हैं. इन 11 लोगों में से केवल उमाशंकर के घर ही बेटी जन्मी थी. इसलिए आस्था सभी की लाडली थी और सभी लोग उसकी शादी में पैर पूजकर खुद को धन्य मानने के लिए तैयार थे. आस्था की उम्र 14 साल की थी. उसने एक्सीलेंस स्कूल से इसी साल कक्षा 9वीं पास की थी और सभी लोगों को उससे काफी उम्मीदें थीं.
 
एडीशनल एसपी नीरज पांडेय के मुताबिक, फिलहाल लड़की की खुदकुशी का केस दर्ज किया गया है. पुलिस डिटेल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है. इस मामले में मां-बेटे के बयानों के साथ सभी पहलुओं को लेकर जांच की जाएगी.

14-15 साल से कोई रिश्ता नहीं
पिता उमाशंकर खरे का दावा है कि जब आस्था छोटी थी, तभी से उसने पत्नी से सभी तरह के रिश्ते तोड़ लिए थे. वे केवल एक साथ मकान में रहते थे. मामला परिवार परामर्श केंद्र भी पहुंचा था. यहां पर बेटे और बेटी की खातिर दोनों ने एक घर में रहने का फैसला किया था. आस्था ने उसी वजह से खुदकुशी की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay