एडवांस्ड सर्च

धारा 370 को लेकर फिर बिगड़े कांग्रेस के मंत्री के बोल

अनुच्छेद 370 को लेकर मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने एक विवादित बयान दिया है  उन्होने ट्वीट कर  कहा कि "मोदी-शाह की पूजा तो क्या उनके पैर धोकर पानी भी पियो तो भी हमें कोई आपत्ति नहीं है" . जीतू पटवारी का ये बयान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान के एक बयान के बाद आया.  शिवराज ने अपने बयान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की पूजा करने संबंधित बयान दिया था.

Advertisement
Aajtak.inभोपाल, 14 August 2019
धारा 370 को लेकर फिर बिगड़े कांग्रेस के मंत्री के बोल ट्विटर फोटो

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को लेकर मोदी सरकार के फैसले के बाद देश के तमाम नेताओं की प्रतिक्रिया भी आने लगी है. एक तरफ जहां कुछ राजनीतिक दल या लोग मोदी सरकार के इस फैसले की तारीफ कर रहे हैं वही दूसरी ओर कांग्रेस,वामदल, नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी जैसे दल सरकार के इस फैसले का खुलकर विरोध कर रहे है.

अनुच्छेद 370 को लेकर मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने एक विवादित बयान दिया है  उन्होने ट्वीट कर  कहा कि "मोदी-शाह की पूजा तो क्या उनके पैर धोकर पानी भी पियो तो भी हमें कोई आपत्ति नहीं है" . जीतू पटवारी का ये बयान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान के एक बयान के बाद आया.  शिवराज ने अपने बयान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की पूजा करने संबंधित बयान दिया था.
 
जीतू पटवारी ने  ट्वीट कर कहा की "शिवराज जी, आप भाजपा में अपनी साख खत्म होने के डर से उसे बचाने के लिए मोदी-शाह की पूजा तो क्या उनके पैर धोके पानी पियो तो भी हमें कत्तई आपत्ति नहीं.  मगर देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू पर टिप्पणी, बार-बार टिप्पणी आपके मानसिक दिवालियापन को दर्शा रही है।"

जीतू पटवारी ने एक और ट्वीट में बोला कि "मध्यप्रदेश की सत्ता से बेदखल होने के बाद भाजपा में अपना अस्तित्व बचाने के लिए मोदी-शाह की चापलूसी में मशगूल शिवराज जी मध्य प्रदेश  की मर्यादा का ख्याल रखें.  आप 13 साल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे मध्यप्रदेश  की जनता को पहले एहसास था कि मुख्यमंत्री चुना, लेकिन क्या पता था कि चापलूस चुना"

देश की संसद से जम्मू- कश्मीर पुनर्गठन बिल के पास होने के बाद मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को हटाए जाने के फैसले को शिवराज ने पंडित जवाहर लाल नेहरू की गलती को सुधारने वाला कदम बताया था.  साथ ही उन्होंने कहा था कि पहले तो वह मोदी और अमित शाह को अपना नेता मानते थे और श्रद्घा की दृष्टि से उन्हें देखते थे मगर इस कदम के कारण अब वह उनकी पूजा करते हैं.


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay