एडवांस्ड सर्च

JNU प्रोफेसर को न्यौता देने पर नपी झारखंड यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर

झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय महिला एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर श्रेया भट्टाचार्या को इसलिए निलंबित कर दिया गया क्योंकि उन्होंने सरदार पटेल के जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में JNU के प्रोफेसर को आमंत्रित किया था.

Advertisement
aajtak.in
प्रियंका झा रांची, 30 March 2016
JNU प्रोफेसर को न्यौता देने पर नपी झारखंड यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर यूनिवर्सिटी की छवि खराब करने का आरोप

झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय महिला एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर श्रेया भट्टाचार्या को इसलिए निलंबित कर दिया गया क्योंकि उन्होंने सरदार पटेल के जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में JNU के प्रोफेसर को आमंत्रित किया था. श्रेया झारखंड सेंट्रल यूनिवर्सिटी में डीन ऑफ स्कूल ऑफ लेंग्वेज, डीन ऑफ स्कूल ऑफ एजुकेशन और डीन ऑफ स्टूडेंट्स वेलफेयर पद भी संभाल रही हैं.

श्रेया भट्टाचार्या ने JNU के प्रोफेसर एनएम पाणिनी को आमंत्रित किया था. हालांकि एनएम पाणिनी कार्यक्रम में नहीं आए लेकिन श्रेया को निलंबित कर दिया गया. श्रेया के सस्पेंशन ऑर्डर में लिखा गया है कि 'प्रोफेसर पाणिनी JNU के उन छात्रों के मेंटर हैं जो देशविरोधी गतिविधियों में शामिल हैं. प्रोफेसर पाणिनी की विश्वसनीयता की जांच किए बिना श्रेया भट्टाचार्या के उनको आमंत्रण देना आलोचना की वजह बनी. इससे यूनिवर्सिटी की छवि तो खराब हुई ही साथ ही वाइस चांसलर की प्रतिष्ठा भी खतरे में पड़ गई.'

कार्यक्रम की विफलता का ठीकरा श्रेया पर फोड़ा
सरदार पटेल की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के न आने के लिए भी श्रेया भट्टाचार्या को जिम्मेदार ठहराया. एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक श्रेया के सस्पेंशन ऑर्डर में लिखा गया है कि 'एक विवादित संस्थान के प्रोफेसर को आमंत्रण देने की वजह से ही राज्यपाल ने इस कार्यक्रम से दूरी बना ली.'

प्रोफेसर पाणिनी ने कहा-VC ने किया था इनवाइट
दूसरी तरफ जेएनयू के प्रोफेसर पाणिनी ने कहा है कि उन्हें झारखंड विश्वविद्यालय के VC ने भी कार्यक्रम के लिए इनवाइट किया था. पाणिनी के मुताबिक यह कार्यक्रम काफी पहले होना था लेकिन आखिर में इसके लिए 19 मार्च तारीख तय की गई. पाणिनी ने बताया कि VC ने पहले उन्हें फोन किया और कहा कि 'वे पाणिनी के आने से खुश हैं', लेकिन 17 मार्च को VC ने उन्हें फिर फोन किया और कहा कि कुछ छात्रों के विरोध प्रदर्शन की वजह से कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है. पाणिनी ने बताया कि वह देशविरोधी छात्रों का मेंटर बताए जाने पर अचंभित हैं क्योंकि वे 2009 में ही रिटायर हो चुके हैं.यह कार्यक्रम 17 से 19 मार्च तक होना था और श्रेया कार्यक्रम की ऑर्गनाइजिंग कमेटी प्रमुख थी.अभी तक VC नंद कुमार यादव ने मामले पर किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं दी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay