एडवांस्ड सर्च

जम्मू-कश्मीर में AFSPA मजे के बजाय समय की मांग: राम माधव

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सम्बद्ध राम माधव ने जम्मू कश्मीर के वर्तमान हालात के मद्देनजर कहा है कि (AFSPA) जैसे कानून मजे के बजाय जरूरत पर लगाए जाते हैं. इसे हटाने के लिए सरकारों को राज्य के भीतर पर्याप्त शांति का माहौल बनाना चाहिए.

Advertisement
अश्विनी कुमार [Edited by: विष्णु नारायण]नई दिल्ली, 19 March 2017
जम्मू-कश्मीर में AFSPA मजे के बजाय समय की मांग: राम माधव राम माधव

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सम्बद्ध राम माधव ने जम्मू कश्मीर के वर्तमान हालात के मद्देनजर कहा है कि (AFSPA) जैसे कानून मजे के बजाय जरूरत पर लगाए जाते हैं. इसे हटाने के लिए सरकारों को राज्य के भीतर पर्याप्त शांति का माहौल बनाना चाहिए. इस बीच भाजपा जम्मू कश्मीर में पीडीपी के साथ मिलकर दो संसदीय सीटों और 6 एमएलसी की सीटों पर चुनाव लड़ने की रणनीति तैयार कर रहे हैं.

AFSPA पर बीजेपी ने अपनाया कड़ा रुख
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती के जम्मू कश्मीर में AFSPA पर पुनर्विचार करने की मांग पर बीजेपी ने कड़ा रुख अपनाया है. इस पर राम माधव कहते हैं कि ऐसे कानून मजे के बजाय जरूरत के तहत लगाए जाते हैं. साथ ही वे कहते हैं कि किसी भी राज्य के हालात सुधरते ही ऐसे कानून हट जाते हैं.

राम माधव ने कहा कि वे श्रीनगर और अनंतनाग की दो संसदीय सीटों पर पीडीपी और बीजेपी के लड़ने का फैसला रविवार को करेंगे. वे ऐसे में दोनों पार्टियों के भीतर सहमति की बात कहते हैं. वे कश्मीर में रह रहे लोगों से भारी संख्या में मतदान की अपील करते हैं. वे अलगाववादी नेताओं द्वारा चुनावों के बहिष्कार पर कहते हैं कि लोकतंत्र एक उत्सव है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay