एडवांस्ड सर्च

J-K: कुपवाड़ा पहुंचे राजनाथ सिंह, बॉर्डर पर लोगों से भी मिलेंगे

महबूबा मुफ्ती के साथ बैठक में राजनाथ ने राज्य का सुरक्षाव्यवस्था का जायजा लिया. रमज़ान के महीने में गृहमंत्रालय की तरफ से लागू किया गए सीज़फायर की भी समीक्षा की गई. इसके अलावा विकास कार्यों की भी समीक्षा की गई.

Advertisement
aajtak.in
मोहित ग्रोवर नई दिल्ली, 08 June 2018
J-K: कुपवाड़ा पहुंचे राजनाथ सिंह, बॉर्डर पर लोगों से भी मिलेंगे कश्मीर दौरे के दौरान महबूबा मुफ्ती के साथ राजनाथ सिंह

गृहमंत्री राजनाथ सिंह अपने जम्मू-कश्मीर दौरे के दूसरे दिन कुपवाड़ा पहुंचे. इस दौरान उनके साथ राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह भी मौजूद रहे. कुपवाड़ा के अलावा राजनाथ यहां पर बॉर्डर पर पाकिस्तानी गोलीबारी से पीड़ित परिवारों से भी मुलाकात करेंगे.

बता दें कि गुरुवार को राजनाथ ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की थी. राजनाथ के कुपवाड़ा जाने से पहले गुरुवार को ही आतंकियों ने यहां पर हमला किया था.

महबूबा मुफ्ती के साथ बैठक में राजनाथ ने राज्य का सुरक्षाव्यवस्था का जायजा लिया. रमज़ान के महीने में गृहमंत्रालय की तरफ से लागू किया गए सीज़फायर की भी समीक्षा की गई. इसके अलावा विकास कार्यों की भी समीक्षा की गई.

राजनाथ इसके अलावा अमरनाथ यात्रा की तैयारियों को भी जायजा लेंगे. शुक्रवार को राजनाथ जम्मू के आरएसपुरा सेक्टर में बॉर्डर के लोगों से मिलेंगे. वहीं अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर चकरोई पोस्ट पर बंकरों का भी जायजा लेंगे.

इसे भी पढ़ें... J-K: राजनाथ बोले- विनाश का रास्ता छोड़ विकास की तरफ बढ़े युवा

अलगाववादियों पर वार

यहां पर उन्होंने अलगाववादियों पर जमकर हमला बोला. राजनाथ ने कहा कि अलगाववादियों को घाटी के बच्चों के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए. हमारे बच्चे, हमारे कश्मीर को पत्थरबाजी में शामिल नहीं होना चाहिए. ये एजेंट घाटी में शांति नहीं चाहते हैं. मैं दिल से कहता हूं कि यहां के बच्चे हमारे बच्चे हैं.

उन्होंने कहा कि अपनी राजनीतिक फायदे के लिए बच्चों का इस्तेमाल नहीं करें. ये बच्चे हमारे देश के भविष्य हैं. उन्होंने आगे कहा कि कश्मीर के बच्चे प्रतिभाशाली होते हैं और देशभर में उनकी तारीफ होती है. वे पूरे देश की संपत्ति हैं.

इसे भी पढ़ें... राजनाथ के कश्मीर दौरे के बीच कुपवाड़ा में आतंकी हमला, सेना के 2 जवान घायल

राजनाथ ने कहा कि हमने दिनेश्वर शर्मा के रूप में वार्ताकार नियुक्त किया है, वह यहां पिकनिक के लिए नहीं हैं, वह 11 बार जम्मू-कश्मीर का दौरा कर चुके हैं. प्रधानमंत्री ने लालचौक से कहा था कि हमें कश्मीर का भरोसा नफरत से नहीं प्यार से पाना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay