एडवांस्ड सर्च

लेह में फायरिंग के अभ्यास के दौरान एक जवान की मौत

जम्मू-कश्मीर के लेह के पास फील्ड फायरिंग अभ्यास के दौरान 81 मिमी मोर्टार का बैरल फटने से एक जवान की जान चली गई वहीं दो अन्य घायल हो गए.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 10 July 2019
लेह में फायरिंग के अभ्यास के दौरान एक जवान की मौत (सांकेतिक तस्वीर- फेसबुक- Indian Army)

जम्मू-कश्मीर के लेह के पास फील्ड फायरिंग अभ्यास के दौरान 81 मिमी मोर्टार का बैरल फटने से एक जवान की जान चली गई जबकि दो अन्य घायल हो गए. सैनिक लद्दाख में इन्फेंट्री यूनिट के थे. सेना ने घटना की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दिया है.

इस मामले की जांच की जाएगी कि कैसे बैरल फटा और यह हादसा हुआ. सेना ने यह नहीं बताया कि जांच समिति कितने दिनों के भीतर इस मामले में रिपोर्ट तैयार करेगी.

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के जवानों के शहीद होने की संख्या बाकी जगहों से ज्यादा है. हालांकि पुलवामा हमले के बाद सेना ने 93 आतंकियों को भी मार गिराया है.

गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने राज्यसभा में जानकारी दी कि जम्मू-कश्मीर में साल 2016 में 82 सुरक्षाबल शहीद हुए तो 2017 में 80. साल 2018 में 91 सुरक्षाकर्मियों ने आतंकियों से लोहा लेते हुए बलिदान दिया. वहीं इस साल के मध्य तक सुरक्षाबलों के हताहत होने की तादाद 70 तक पहुंच चुकी है.

रेड्डी ने कहा, 'छत्तीसगढ़ में साल 2016 में 38 जवान शहीद हुए, 2017 में 60, 2018 में 55 और इस साल के पहले 6 महीनों में 14 जवान देश की सुरक्षा करते हुए शहीद हो गए. जबकि मणिपुर में 2016 में 11, 2017 में 8, 2018 में 7 जवान शहीद हुए. हालांकि इस साल अब तक मणिपुर में कोई सुरक्षाकर्मी शहीद नहीं हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay