एडवांस्ड सर्च

बांदीपोरा रेप केस: फास्ट ट्रैक आधार पर होगी जांच, राज्यपाल मलिक ने दिया निर्देश

जम्मू-कश्मीर के बांदपोरा में 3 साल की बच्ची से दुष्कर्म मामले में पुलिस ने सोमवार को एक निजी स्कूल के प्रिंसिपल को हिरासत में ले लिया, जिसने दुष्कर्म के आरोपी ताहिर अहमद मीर के लिए अवयस्क प्रमाणपत्र जारी किया था. ताहिर को गिरफ्तार किया जा चुका है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: हिमांशु कोठारी]बांदीपोरा, 13 May 2019
बांदीपोरा रेप केस: फास्ट ट्रैक आधार पर होगी जांच, राज्यपाल मलिक ने दिया निर्देश बांदीपोरा रेप केस

हाल ही में जम्मू एवं कश्मीर के बांदीपोरा जिले में बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था. जिसको लेकर लोगों ने जगह-जगह प्रदर्शन किया. अब इस मामले में दुष्कर्म के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने विशेष जांच दल को फास्ट ट्रैक आधार पर बांदीपुरा रेप केस मामले की जांच पूरी करने का निर्देश दिया है.

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने विशेष जांच दल को फास्ट ट्रैक आधार पर मामले की जांच पूरी करने का आदेश दिया है. साथ ही संभागीय आयुक्त कश्मीर और आईजी पुलिस को व्यक्तिगत रूप से जांच की निगरानी करने का निर्देश दिया गया है.

घटना के विरोध में प्रदर्शन कर रहे गुस्साए लोगों की पुलिस वालों के साथ भिड़ंत हो गई. इसमें 47 पुलिसकर्मी घायल हो गए. इनमें एक असिस्टेंट कमांडर भी शामिल हैं. बारामूला में राष्ट्रीय राजमार्ग पर तैनात सुरक्षाबलों पर कई लोगों ने पत्थर फेंके. 

दरअसल, पिछले हफ्ते तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले आरोपी को मौत की सजा दिलाने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में लोग राज्य की राजधानी और अन्य जगहों पर सड़कों पर उतर आए. सोमवार को भी लोगों ने नाराजगी जाहिर करते हुए घाटी में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किया. बांदीपोरा, सोपोर, बडगाम और बारामूला शहर में बाजार बंद रहे. हालांकि धार्मिक संगठन इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन के जरिए बुलाए गए बंद का श्रीनगर शहर पर आंशिक प्रभाव पड़ा.

इस मामले को लेकर कश्मीर विश्वविद्यालय, केंद्रीय विश्वविद्यालय और इस्लामिक यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के छात्रों ने भी कक्षाओं का बहिष्कार कर प्रदर्शन किया. हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के सदस्य भी पीड़ित के प्रति एकजुटता की भावना दिखाते हुए अदालतों से दूर रहे. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और अलगाववादी नेताओं के साथ-साथ कई सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक समूहों ने भी घटना के प्रति अपना रोष जताया है.

वहीं पुलिस ने सोमवार को एक निजी स्कूल के प्रिंसिपल को हिरासत में ले लिया, जिसने दुष्कर्म के आरोपी ताहिर अहमद मीर के लिए अवयस्क प्रमाणपत्र जारी किया था. ताहिर को गिरफ्तार किया जा चुका है. साथ ही पुलिस का कहना है कि मीर के पिता ने बयान दिया है कि उसका बेटा 20 साल का है. पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि मामले की त्वरित जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay