एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ISI और हाफिज का नया टेरर प्लान, जम्मू से आतंकी तैयार करने की रणनीति

कश्मीर के रास्ते भारत में आतंकी गतिविधियां जारी रखने के बाद अब आईएसआई और आतंकी हाफिज सईद घाटी की जगह जम्मू से भी आतंकी तैयार करने की योजना को मूर्तरूप देने में जुटे हैं.
ISI और हाफिज का नया टेरर प्लान, जम्मू से आतंकी तैयार करने की रणनीति सांकेतिक तस्वीर
जितेंद्र बहादुर सिंह [Edited by: सुरेंद्र कुमार वर्मा]नई दिल्ली, 11 September 2018

पाकिस्तान की ओर से भारत को अस्थिर करने की मंशा पर भारतीय खुफिया एजेंसियों को बड़ी जानकारी हाथ लगी है. खुफिया एजेंसियों को मिली जानकारी के अनुसार हाफिज सईद कश्मीर की जगह जम्मू में ओवर ग्राउंड वर्कर तैयार कर रहा है.

खुफिया एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को चौंकाने वाली जानकारी देते हुए बताया कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी हाफिज सईद खास तरह के जम्मू प्लान की तैयारी में जुटे हैं.

सूत्रों के मुताबिक पाक इंटेलीजेंस एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आतंक का सरगना हाफिज सईद जम्मू में ओवर ग्राउंड वर्कर (OGW) तैयार कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक पाक अधिकृत कश्मीर (POK) में लश्कर का सबसे बड़ा कमांडर 'सैफुल्ला साजिद जट' को हाफिज ने जम्मू के पुंछ में OGW का नेटवर्क तैयार करने का काम दिया है.

पैसे देकर प्रभावित कर रहे आतंकी

इंटरसेप्ट से जो खुलासा हुआ है उसके मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा (LeT) के POK में मौजूद कमांडर पुंछ में आतंकियों के परिवारवालों को पैसे देकर उनको लुभा रहे हैं.

सूत्रों के मुताबिक लश्कर आतंकियों के परिवार वालों को पैसा देकर उनके जरिये जम्मू से आतंक में शामिल करने के लिए युवाओं का ब्रेनवॉश करने का काम दिया है.

यही नहीं लश्कर के साथ-साथ हिज्बुल के चीफ सैय्यद सलाउद्दीन ने भी एक कमांडर को आतंक की भर्ती करने के लिए जम्मू के डोडा और किश्तवाड़ में आतंक की भर्ती का टास्क दिया है.

खुफिया एजेंसियों ने जो गृह मंत्रालय को रिपोर्ट दी है उसके मुताबिक हिज्बुल का कमांडर POK से डोडा और किश्तवाड़ के इलाके के मुस्लिम युवाओं को  लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहिद्दीन में ज्वाइन करने के लिए उकसा रहा है. ये आतंकी कमांडर इनको POK में आतंक की ट्रेनिंग भी दिलवाने की फिराक में हैं.

खुफिया सूत्रों ने यह भी जानकारी दी है कि जम्मू के इलाके में ओवर ग्राउंड वर्कर (OGWs) तैयार करने के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की मंशा है कि वह इस इलाके में भी अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा दे सके.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay