एडवांस्ड सर्च

श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा माता वैष्णो देवी का मंदिर? श्राइन बोर्ड ने दिया ये जवाब

माता वैष्णो देवी मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए खोले जाने के मुद्दे पर श्राइन बोर्ड का कहना है कि केंद्र के नए दिशा निर्देशों के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा.

Advertisement
aajtak.in
सुनीलजी भट्ट जम्मू, 27 May 2020
श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा माता वैष्णो देवी का मंदिर? श्राइन बोर्ड ने दिया ये जवाब कटरा में मंदिर की सुरक्षा में तैनात जवान (फोटो-PTI)

  • धार्मिक स्थलों को खोलने की संभावना को लेकर चर्चा
  • मंदिर खोलने का प्रस्ताव नहीं- श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड

लॉकडाउन के पांचवें चरण में केंद्र सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट दिए जाने की संभावना संबंधी रिपोर्ट के बीच श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने कहा है कि वो अभी इस तरह के किसी प्रस्ताव पर विचार नहीं कर रहा है.

श्राइन बोर्ड का कहना है कि केंद्र के नए दिशा निर्देशों के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा. हालांकि इस बीच, कटरा में लोगों ने मांग की है कि मंदिर को श्रद्धालुओं के लिए खोला जाए क्योंकि व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ है.

असल में, कोरोना संकट के मद्देनजर लॉकडाउन के पांचवें चरण का खाका अभी से तैयार किया जा रहा है. सूत्रों का कहना है कि लॉकडाउन 5.0 को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही मन की बात कर सकते हैं. लॉकडाउन के पांचवें चरण में कोरोना प्रभावित 11 शहरों को छोड़कर बाकी देश में छूट का दायरा बढ़ाया जा सकता है.

सूत्रों का कहना है कि लॉकडाउन का पांचवां चरण 11 शहरों पर केंद्रित होगा, जिसमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे, ठाणे, इंदौर, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, सूरत और कोलकाता शामिल हैं. इन शहरों में 70 फीसदी से अधिक कोरोना केस हैं. केवल 5 शहरों (अहमदाबाद, दिल्ली, पुणे, कोलकाता, मुंबई) में तो आंकड़ा 60 फीसदी के पास है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के पांचवें चरण में केंद्र की ओर से धार्मिक स्थलों को खोलने की छूट दी जा सकती है, लेकिन नियम और शर्तें लागू रहेंगी. धार्मिक स्थल पर कोई भी मेला या महोत्सव मनाने की छूट नहीं होगी. साथ ही अधिक संख्या में लोग इकट्ठा नहीं होंगे. मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग अनिवार्य होगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

लॉकडाउन 5.0 के दौरान सभी जोन में सैलून और जिम को खोलने की इजाजत दी जा सकती है, सिर्फ कंटेनमेंट जोन छोड़कर. हालांकि, इस चरण में किसी स्कूल, कॉलेज-यूनिवर्सिटी को खोलने की इजाजत नहीं दी जा सकती है. साथ ही माल और मल्टीप्लेक्स को भी बंद रखा जा सकता है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन 5.0 में शादी और अंतिम संस्कार में कुछ और लोगों को शामिल होने की छूट दी जा सकती है. सूत्रों का कहना है कि लॉकडाउन का पांचवा चरण दो हफ्ते के लिए लागू किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay