एडवांस्ड सर्च

अमरनाथ यात्रा रूट पर भूस्खलन, 3 श्रद्धालुओं की मौत, रेस्क्यू जारी

लैंडस्लाइड की ये घटना जम्मू-कश्मीर के गांदेरबल जिले में हुई. यहां बालटाल मार्ग पर रेलपत्री और बरारीमार्ग के बीच भूस्खलन हुआ. हादसे के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस पर दुख जताया है. देर रात से ही बचाव-राहत कार्य तेजी से शुरू कर दिया गया है.

Advertisement
जितेंद्र बहादुर सिंह/शुजा उल हक [Edited By: मोहित ग्रोवर]बालटाल, जम्मू-कश्मीर , 04 July 2018
अमरनाथ यात्रा रूट पर भूस्खलन, 3 श्रद्धालुओं की मौत, रेस्क्यू जारी देर रात ही शुरू हुआ बचाव कार्य (फोटो क्रेडिट - शुजा उल हक)

बहुचर्चित अमरनाथ यात्रा शुरू हो चुकी है, भोले के हज़ारों भक्त इस यात्रा का हिस्सा बन रहे हैं. लेकिन मंगलवार शाम यात्रा के रूट पर बड़ा लैंडस्लाइड हुआ जिसमें तीन श्रद्धालुओं की मौत हो गई. इनके अलावा तीन श्रद्धालु घायल भी हुए हैं.

लैंडस्लाइड की ये घटना जम्मू-कश्मीर के गांदेरबल जिले में हुई. यहां बालटाल मार्ग पर रेलपत्री और बरारीमार्ग के बीच भूस्खलन हुआ. हादसे के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस पर दुख जताया है. देर रात से ही बचाव-राहत कार्य तेजी से शुरू कर दिया गया है.

बताया जा रहा है कि यह ग्रुप बालटाल मार्ग के जरिए अमरनाथ के दर्शन को जा रहा था. उसी दौरान रास्ते में भूस्खलन होने से चपेट में आ गया. देर रात को ही एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, एमआरटी, सीआरपीएफ, पुलिस और सेना ने एक साथ बचाव अभियान चलाया.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है. 28 जून से अमरनाथ यात्रा शुरू हुई, जिसके बाद से ही लगातार बारिश के कारण यात्रा बाधित हो रही है. यहां तक कि एक पूरा दिन यात्रा निलंबित भी की गई थी.

खराब मौसम ने अमरनाथ यात्रा के प्रथम दिन भारी व्यवधान पैदा किया और इसके चलते केवल 1,007 श्रद्धालु ही गुफा मंदिर में बर्फ से बने शिवलिंग के दर्शन कर पाए थे. इसके बाद 30 जून को यात्रा पूरे दिन निलंबित की गई थी. जिसके बाद मंगलवार रात यह हादसा हो गया है.

बता दें कि 60 दिन की इस यात्रा के लिए अभी तक दो लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने पंजीकरण कराया है. इस यात्रा का समापन 26 अगस्त को होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay