एडवांस्ड सर्च

हिमाचल में मूसलाधार बारिश के बाद 'बहने' लगा पहाड़, बाल-बाल बची गाड़ियां

हिमाचल के सोलन में नेशनल हाईवे नंबर 5 पर भारी बारिश के बाद पहाड़ का एक हिस्सा दरक गया. इस भूस्खलन की चपेट में आने से कई वाहन बाल-बाल बचे. फिलहाल इस भूस्खलन में किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है.

Advertisement
aajtak.inनई दिल्ली, 02 August 2019
हिमाचल में मूसलाधार बारिश के बाद 'बहने' लगा पहाड़, बाल-बाल बची गाड़ियां हिमाचल में भूस्खलन

हिमाचल प्रदेश के सोलन में मूसलाधार बारिश के बाद भूस्खलन देखने को मिला है. यह भूस्खलन सोलन के जबली में नेशनल हाईवे नंबर 5 यानी एनएच-5 पर देखने को मिला है. समाचार एजेंसी एएनआई ने इस भूस्खलन का वीडियो ट्वीट किया है. इससे पहले 18 जुलाई को सोलन के परवाणू में विश्व धरोहर में शामिल कालका-शिमला हेरिटेज ट्रैक पर भारी भूस्खलन हुआ था और मलबा सड़क पर आ गया था और ट्रैक बड़े नाले में तब्दील हो गया था.

एनएच-5 पर हुए भूस्खलन के वीडियो में देखा जा सकता है कि भूस्खलन की चपेट में आने से कई वाहन बाल-बाल बच गए. हालांकि अभी तक इसमें किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है. इस भूस्खलन के बाद एनएच-5 में वाहनों की आवाजाही भी बाधित हो गई है. आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से पहाड़ी इलाकों में लगातार मूसलाधार बारिश और भूस्खललन हो रहे हैं. इसके चलते पहाड़ी इलाकों में लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

इससे पहले हिमाचल प्रदेश के मंडी में नेशनल हाईवे नंबर 3 पर भूस्खलन हुआ था. इसके चलते मिट्टी और पत्थरों का मलबा सड़क पर फैल गया और नेशनल हाईवे नंबर 3 पर यातायात पूरी तरह से ठप हो गया था. इसके बाद नेशनल हाईवे नंबर 3 पर दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई थीं. हालांकि कड़ी मशक्कत के बाद एनएच-3 खोला गया था और वाहनों को निकाला गया.

इससे भी पहले 22 जुलाई को हिमाचल प्रदेश के शिमला से 200 किलोमीटर दूर भावनगर के पास भूस्खलन हुआ था, जिसके चलते कन्नूर जिले से संपर्क टूट गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay