एडवांस्ड सर्च

प्रोग्रेस पंचायत में नकवी से बोले स्थानीय लोग- हमारा साथ दे बीजेपी तो हम भी उसके साथ

हरियाणा के मुस्लिम बहुल इलाके मेवात से मुस्लिम पंचायत यानी प्रोग्रेस पंचायत की शुरुआत हुई. मेवात के हथीन कस्बे में मोदी सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने क्षेत्र में एक कन्या होस्टल और रिहायशी क्वार्टर्स का उद्घाटन, एक सीनियर सेकेंडरी स्कूल का शिलान्यास भी किया और पंचायतें भी की.

Advertisement
aajtak.in
सबा नाज़/ संजय शर्मा हथीन, 30 September 2016
प्रोग्रेस पंचायत में नकवी से बोले स्थानीय लोग- हमारा साथ दे बीजेपी तो हम भी उसके साथ केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी

हरियाणा के मुस्लिम बहुल इलाके मेवात से मुस्लिम पंचायत यानी प्रोग्रेस पंचायत की शुरुआत हुई. मेवात के हथीन कस्बे में मोदी सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने क्षेत्र में एक कन्या होस्टल और रिहायशी क्वार्टर्स का उद्घाटन, एक सीनियर सेकेंडरी स्कूल का शिलान्यास भी किया और पंचायतें भी की.

इधर दिल्ली में PoK में भारतीय सेना के कमांडो के सर्जिकल स्ट्राइक की खबरें चल रही थीं और उधर मेवात में प्रोग्रेस पंचायत की जारी थी. हालांकि पहली पंचायत तो महज तीन सवालों में खत्म हो गई. पंचायत में पहला सवाल पेयजल मुहैया कराने पर पूछा गया. गांवों में खारा पानी है. मीठा पानी मिल जाये तो सबका जीवन आसान ही जाये.

दूसरा सवाल सड़क का था. तीसरा सवाल बड़ा दिलचस्प था, खईक गांव के खुर्शीद मियां ने तेज़ आवाज़ में सवाल पूछा- हम तो देशभक्त हैं पर बीजेपी नेता खुद हमसे नफरत करते हैं, हम कहां जाएं? हमारे पुरखों ने कुर्बानियां दीं. नेता हमसे बात तक नहीं करते हमारी बात सुनना और एक्शन लेना तो दूर की बात है. हमारा साथ दो तो हम साथ चलने को तैयार हैं. खरी खरी सुनने सुनाने के बाद पंचायत खत्म हो गई.

नेताओं के पास वक़्त और जनता के पास धैर्य दोनों ही नहीं थे. मुख्तार नक़वी , कृष्णपाल गुर्जर हरियाणा के लोकनिर्माण मंत्री राव नरवीर सिंह को अगले गांव की पंचायत में जाना था. नक़वी ने कहा कि इस कार्यक्रम का मकसद जनता में विकास पर विश्वास बढ़ाना है. अल्पसंख्यकों के मन की बात सुनना ज़रूरी है. हम करें तो तुष्टिकरण और बीजेपी करे तो प्रोग्रेस के विपक्ष के कटाक्ष पर नक़वी ने कहा 'हम तुष्टिकरण नहीं सशक्तिकरण की बात कर रहे हैं. वोटबैंक की नहीं उनकी समस्याओं की बात करते हैं. अब बातचीत का सिलसिला चलता रहेगा.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay