एडवांस्ड सर्च

अमित शाह का एक फोन कॉल और 4 घंटे में पदभार संभालने पहुंच गए नितिन पटेल

डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कहा कि आज सुबह अमित भाई ने मुझसे विनती की है कि आप पदभार संभाल लीजिए. नितिन ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष की ओर से मुझे आश्वासन दिया गया है कि मुझे जो उच्च स्तरीय मंत्रालय चाहिए थे उनको देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

Advertisement
aajtak.in
गोपी घांघर अहमदाबाद, 31 December 2017
अमित शाह का एक फोन कॉल और 4 घंटे में पदभार संभालने पहुंच गए नितिन पटेल पदभार संभालते नितिन पटेल

गुजरात में सरकार बनाने के बाद मुश्किल में आई बीजेपी की दिक्कतें अब दूर होती दिख रही हैं. नाराज डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने आलाकमान और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बात करने के बाद आज से नए मंत्रालयों का पदभार संभाल लिया है. इससे पहले मनचाहा मंत्रालय न मिलने से नितिन पटेल नाराज बताए जा रहे थे.

नितिन पटेल ने रविवार को कहा कि गुजरात में सरकार बनने के बाद मुझे नंबर-2 पर रखते हुए डिप्टी सीएम का पद दिया गया है लेकिन दूसरे स्थान के नेता को जो मंत्रालय सौंपे गए वो उचित नहीं थे. उन्होंने कहा कि मुझसे वित्त और शहरी विकास मंत्रालय ले लिया गया जो ठीक नहीं है. इस बाबत नितिन ने राज्य के सीएम विजय रूपाणी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और संगठन मंत्री को अपनी शिकायत बता दी थी.

शाह से हुई फोन पर बात

डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने कहा कि आज सुबह साढ़े सात बजे अमित भाई ने मुझे फोन कर कहा कि आप पदभार संभाल लीजिए. नितिन ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष की ओर से मुझे आश्वासन दिया गया है कि मुझे जो उच्च स्तरीय मंत्रालय चाहिए थे उनको देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, इसके बाद ही मैंने मंत्रालयों के कामकाज को संभालने का फैसला किया है.

उठी सीएम बनाने की मांग

इससे पहले नाराज नितिन पटेल ने मंत्री पद की शपथ लेने के बाद भी मंत्रालय नहीं संभाला था. यहां तक कि मेहसाणा में पटेल के समर्थकों ने एक जनवरी को बंद बुलाने का ऐलान भी किया था. साथ ही सरदार पटेल समूह के संयोजक लालजी पटेल ने शनिवार को नितिन पटेल को राज्य का सीएम बनाने की मांग की थी.

पिछली सरकार में नितिन पटेल को वित्त और शहरी विकास जैसे मंत्रालय दिए गए थे जबकि नई सरकार में उन्हें कम महत्त्वपूर्ण माने जाने वाले सड़क और इमारत और स्वास्थ्य जैसे विभागों का भार सौंपा गया है. नाराज नितिन पटेल को हार्दिक पटेल ने बगावत कर कांग्रेस में शामिल होने का न्योता तक दे दिया था. हालांकि नितिन पार्टी छोड़ने की अटकलों को शुरू से ही खारिज करते आए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay