एडवांस्ड सर्च

गुजरात: चक्रवाती तूफान 'महा' का खतरा बढ़ा, भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक महा तूफान 6 नवंबर की सुबह गुजरात के तटीय क्षेत्र की ओर बढ़ सकता है. इस बीच, हवा की गति 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटा रहने की संभावना है. जिससे मूसलाधार बारिश हो सकती है.

Advertisement
aajtak.in
गोपी घांघर अहमदाबाद, 02 November 2019
गुजरात: चक्रवाती तूफान 'महा' का खतरा बढ़ा, भारी बारिश का अलर्ट चक्रवाती तूफान (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • चक्रवात 'महा' से दक्षिण गुजरात में भारी बारिश का अनुमान
  • 6 नवंबर को गुजरात के तट से टकरा सकता का चक्रवात 'महा'

अरब सागर में उठा गंभीर चक्रवाती तूफान ‘महा’ 6 नवंबर को गुजरात तट से टकरा सकता है. 2-3 दिन में महा तूफान के केरल के तट से भारतीय जल सीमा में प्रवेश करने का अनुमान है. ‘महा’ तूफान के चलते गुजरात के तटीय क्षेत्रों सौराष्ट्र के पोरबंदर, देवभूमि द्वारका, सोमनाथ, जूनागढ़ में भारी बारिश की संभावना है. यह चक्रवाती तूफान अरबी समुद्र से उत्तर-पश्चिम की ओर आगे बढ़ रहा है.

गुजरात के तटीय क्षेत्र की ओर बढ़ेगा तूफान

मौसम विभाग के डायरेक्टर जंयत सरकार ने कहा है कि गुजरात के वेरावल तट के दक्षिण में 640 किमी दूर दक्षिण में ‘महा’ तूफान अपनी दिशा बदल सकता है. महा तूफान 6 नवंबर की सुबह गुजरात के तटीय क्षेत्र की ओर बढ़ सकता है. इस बीच, हवा की गति 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटा रहने की संभावना है. जिससे मूसलाधार बारिश हो सकती है.

बारिश और तेज हवाओं का अनुमान

दक्षिणी गुजरात और सौराष्ट्र के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चल सकती हैं. गौरतलब है कि पिछले दिनों क्यार चक्रावत की वजह से दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश हुई थी. जिसकी वजह से किसानों की फसल को काफी नुकसान हुआ.

मछुआरों से समुद्र किनारे ना जाने की अपील

गुजरात के किसानों को ‘क्यार’तूफान के बाद अब ‘महा’ नामक चक्रवात का सामना करना पड़ सकता है. मौसम विभाग ने राज्य में एक बार फिर बारिश होने का अनुमान जताया है.  महा चक्रवात के चलते मछुआरों को सतर्क करते हुए समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay