एडवांस्ड सर्च

गुजरात: पाठ्य पुस्तक मंडल के गोदाम से 42 लाख रुपये की किताबें चोरी

जब किताबों को पुराने गोदाम से नए गोदाम में लेकर जाया जा रहा था उसी दौरान किताबों की चोरी होने की आशंका जताई जा रही है. चोरी की इस वारदात को एक महीने से ज्यादा का वक्त बीतने के बाद अब एफआईआर दर्ज करवाई गई है.

Advertisement
aajtak.in
गोपी घांघर अहमदाबाद, 12 December 2019
गुजरात: पाठ्य पुस्तक मंडल के गोदाम से 42 लाख रुपये की किताबें चोरी किताबें चोरी होने के मामले में शिकायत दर्ज (प्रतीकात्मक तस्वीर)

  • शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर चोरी का शक
  • सिक्योरिटी गार्ड को नहीं मामले की जानकारी

गुजरात के पाठ्य पुस्तक मंडल के गोदाम से किताबें चोरी होने का मामला सामने आया है. 8 नवंबर को 42 लाख रुपये की किताबें चोरी होने के मामले को एक महीना से ज्यादा का वक्त गुजरने के बाद बुधवार को गांधीनगर सेक्टर 21 पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई गई है.

इस मामले में पाठ्य पुस्तक मंडल के कर्मचारियों ने शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह, शिक्षा विभाग प्रमुख सचिव, शिक्षा सचिव, निदेशक और गांधीनगर जिला पुलिस कमिश्नर को खत लिखकर इस बारे में जानकारी दी है. खत में पाठ्य पुस्तक मंडल के अधिकारियों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों के किताबें चोरी मामले में शामिल होने का संदेह है.

बिल्डिंग में नहीं सीसीटीवी कैमरा

पाठ्य पुस्तक मंडल के गोदाम से किताबें चोरी होने के मामले में सिक्योरिटी गार्ड ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि इस इमारत में कोई सीसीटीवी कैमरा या लाइट नहीं है. जिसकी पहले भी शिकायत दर्ज की जा चुकी है, लेकिन मांग को लेकर विभाग द्वारा कोई फैसला नहीं लिया गया. बिल्डिंग में सुबह दो सिक्योरिटी गार्ड और रात में दो गार्ड तैनात रहते हैं.

बताया जा रहा है कि जो किताबें चोरी हुई हैं, उनकी कीमत 42 लाख रुपये है. जिनको ले जाने के लिए एक से ज्यादा ट्रक की जरूरत पड़ेगी. लेकिन सिक्योरिटी गार्ड को इस बात की जानकारी नहीं कि किताबों को ले जाने के लिए कोई ट्रक लाया गया या नहीं.

कब हुईं किताबें चोरी?

जब किताबों को पुराने गोदाम से नए गोदाम में लेकर जाया जा रहा था उसी दौरान किताबों की चोरी होने की आशंका जताईं जा रही है. चोरी की इस वारदात को एक महीने से ज्यादा का वक्त बीतने के बाद अब एफआईआर दर्ज करवाई गई है. किताबों की चोरी की इस वारदात से बड़े घोटाले की आशंका है. हालांकि पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay