एडवांस्ड सर्च

बाढ़ ने ली अब तक 240 लोगों की जान, 9 राज्यों में मचाई भीषण तबाही

भारी बारिश, भूस्खलन और बाढ़ के कारण देश के कई राज्य बुरी तरह प्रभावित हैं. भारत के 9 राज्यों में अब तक अलग-अलग हादसों में 240 लोगों की मौत हो चुकी है. केरल, कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गोवा सबसे ज्यादा प्रभावित हैं.

Advertisement
aajtak.inनई दिल्ली, 12 August 2019
बाढ़ ने ली अब तक 240 लोगों की जान, 9 राज्यों में मचाई भीषण तबाही बाढ़ के कारण कई राज्यों में हालात बदतर (फोटो- REUTERS)

भारी बारिश, भूस्खलन और बाढ़ के कारण देश के कई राज्य बुरी तरह प्रभावित हैं. भारत के 9 राज्यों में अब तक अलग-अलग हादसों में 240 लोगों की मौत हो चुकी है. केरल, कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गोवा सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. कभी तेज बारिश, कभी लैंड स्लाइड और कभी बादल फटने से उत्तराखंड में हाहाकार मचा हुआ है. अब तक 34 लोगों की जान जा चुकी हैं.सबसे ज्यादा नुकसान चमोली में हुआ है. वहां बादल फटने से कई मकान और दुकान तबाह हो गए. बुरी खबर ये है कि भारी बारिश से अभी राहत का अनुमान नहीं है.

महाराष्ट्र में बुरा हाल

पहाड़ी ही नहीं, मैदानी इलाके में भी आसमान से आफत बरस रही है. महाराष्ट्र में बाढ़ का पानी कम हो रहा है. लेकिन तबाही कम होने का नाम नहीं ले रही है. महाराष्ट्र के कोल्हापुर में हालात बदतर हैं. यहां चारों को सिर्फ पानी ही पानी नजर आ रहा है. सैलाब प्रलंयकारी हिलोरे मार रहा है. बेहिसाब बरसात के बाद जान बचाने के लिए लोग छतों पर चढ़ गए. उनके पास बचने का कोई रास्ता नहीं है और न ही खाने-पीने का सामान. एनडीआरएफ, भारतीय नेवी, वायुसेना और सेना के जवान लोगों को बचाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं. उन्हें जरूरत की चीजें और खाना पहुंचा रहे हैं.

राजस्थान-गुजरात बेहाल

दूसरी ओर पश्चिमी राज्यों में भी हाल बेहाल है. गुजरात और राजस्थान भी भारी बारिश की मार झेल रहे हैं. बेहिसाब बारिश ने जिंदगियों को तबाह कर दिया है. गुजरात में अब तक 20 से ज्यादा लोग बाढ़ की भेंट चढ़ चुके हैं. कच्छ में पइया नदी किनारों को तोड़कर बह रही है. आस पास की सड़कें बह गई हैं, खेत तालाब हो गए हैं. रास्ते जलधारा में गुम हैं. जो जहां फंसा है, वहीं फंसा है. राजस्थान में भी हालात भयंकर हैं. यहां के बडवानी में मूसलाधार बारिश मुसीबत बनकर बरसी है. नदी किनारों को तोड़कर बह रही है. जोरदार बरसात ने यहां के लोगों की जिंदगी की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है.

दक्षिण भारत भी पानी-पानी

बाढ़ और बारिश ने दक्षिण भारत को भी नहीं छोड़ा. जहां कर्नाटक की बाढ़ में 40 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है तो केरल में भी 70 से ज्यादा लोग पानी के प्रकोप का शिकार हो चुके हैं. विदेशों से आए सैलानी भी बाढ़ में फंस गए, जिन्हें एनडीआरएफ ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया. कर्नाटक के सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया तो वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में लोगों से मिले.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay