एडवांस्ड सर्च

योगी का राहुल पर वार, 'विकास पर बात करने वाले बाढ़ के समय इटली चले गए थे'

योगी ने कहा कि पीएम मोदी ने गुजरात से वाराणसी आए और चुनाव जीते. वहीं भगवान कृष्ण भी यूपी से गुजरात आए थे. गुजरात ने पिछले 20 साल में काफी विकास किया है. कांग्रेस के राज में यहां की प्रति व्यक्ति आय 14 हजार रुपए थी, लेकिन अब बढ़कर 1 लाख रुपए पहुंच गई है.

Advertisement
मयूरेश गणपतये [Edited By: मोहित ग्रोवर]सूरत, 13 October 2017
योगी का राहुल पर वार, 'विकास पर बात करने वाले बाढ़ के समय इटली चले गए थे' वलसाड में योगी गांधी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गुजरात के वलसाड में गौरव यात्रा में हिस्सा लिया. योगी ने राहुल पर वार करते हुए कहा कि कांग्रेस के शहजादे ने गुजरात के लोगों को गुमराह करने की कोशिश की है. गुजरात ने देश को महात्मा गांधी, सरदार पटेल और नरेंद्र मोदी को दिया है. उन्होंने कहा कि ऐसा कहा जाता है कि राहुल गांधी जहां पर प्रचार करते हैं वहां कांग्रेस चुनाव हार जाती है. उन्होंने कहा कि गुजरात में विकास की बात वे लोग कर रहे हैं , जो बाढ़ आने पर इटली और अमेरिका के दौरे पर चले गए थे.

— Yogi Adityanath (@myogiadityanath) October 13, 2017

कांग्रेस के 5 कार्यकर्ताओं को वलसाड में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ काले झंडे दिखाने के कारण हिरासत में ले लिया गया है.

योगी ने कहा कि पीएम मोदी ने गुजरात से वाराणसी आए और चुनाव जीते. वहीं भगवान कृष्ण भी यूपी से गुजरात आए थे. गुजरात ने पिछले 20 साल में काफी विकास किया है. कांग्रेस के राज में यहां की प्रति व्यक्ति आय 14 हजार रुपए थी, लेकिन अब बढ़कर 1 लाख रुपए पहुंच गई है

अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन लाना पीएम मोदी का विज़न है कांग्रेस का नहीं. हमने मोदी जी की नेतृत्व में कच्छ और भुज का विकास होते हुए देखा है. यहां पर जब बाढ़ आई थी, तब पीएम मोदी और अमित शाह यहां पर आए थे, राहुल गांधी नहीं. राहुल गांधी ने अमेठी में पिछले 14 साल में कलेक्टर ऑफिस नहीं बनवाया.

योगी ने हमला बोलते हुए कहा कि ये लोग इशरत जहां के सपोर्टर हैं, विनाश के एजेंट हैं. कांग्रेस ने गांधी जी का अपमान किया है. हमारा लक्ष्य गुजरात मुक्त कांग्रेस करना है. 

कांग्रेस ने इंदिरा गांधी और जवाहर लाल नेहरू को भारत रत्न दिया, पर कभी सरदार पटेल को नहीं दिया. जब वाजपेयी जी की सरकार आई तब इस काम को किया गया.

बता दें कि 1 अक्टूबर को नितिन पटेल के नेतृत्व में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ने सरदार पटेल की जन्मभूमि से गौरव यात्रा को हरी झंडी दिखाई. लेकिन बीजेपी अपने मंसूबे में अभी तक सफल होती नजर नहीं आ रही है. क्योंकि नितिन पटेल को जगह-जगह पटेल समुदाय की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है.

नितिन पटेल के कार्यक्रम का विरोध

मंगलवार को नितिन पटेल के नेतृत्व वाली गौरव यात्रा का 10वां दिन था. गुजरात के पाटन में गौरव यात्रा का बीजेपी कार्यकर्ताओं के द्वारा स्वागत कार्यक्रम रखा गया था. नितिन पटेल  इस कार्यक्रम में 3 घंटे देर से पहुंचे. नितिन पटेल को यात्रा के दौरान चाणस्मा में पाटीदारों के विरोध का सामना करना पड़ा.

गौरव यात्रा के जरिए 149 विधानसभा पर नजर

नितिन पटेल और जीतू वाघाणी के नेतृत्व में निकली दोनों यात्राएं 4700 किमी से अधिक की दूरी तय करेंगी और राज्य के कुल 182 विधानसभा क्षेत्रों में ग्रामीण क्षेत्र की 149 सीटों से होकर गुजरेंगी. इसका समापन 16 अक्टूबर को होगा और पीएम नरेंद्र मोदी सभा को संबोधित करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay