एडवांस्ड सर्च

गुजरात में दो चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 9 और 14 दिसंबर को डाले जाएंगे वोट

प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति ने कहा कि गुजरात की 182 सीटों पर कुल 4.30 करोड़ वोटर हैं. चुनावों के लिए 50,128 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं. उन्होंने कहा कि गुजराती भाषा में भी वोटिंग गाइड दी जाएगी. चुनावों में VVPAT का इस्तेमाल होगा.

Advertisement
aajtak.in
बालकृष्ण/ संजय शर्मा नई दिल्ली, 25 October 2017
गुजरात में दो चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, 9 और 14 दिसंबर को डाले जाएंगे वोट गुजरात चुनाव की तारीखों का ऐलान

गुजरात विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. चुनाव आयोग ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस कर गुजरात चुनाव की तारीखों का ऐलान किया. गुजरात में दो चरण में चुनाव होगा, पहले चरण में 89 विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा. पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. दूसरे चरण में 93 विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा, दूसरे चरण के लिए 14 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे. वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी. पहले फेज़ में 19 जिले में वोटिंग होगी, तो वहीं दूसरे फेज़ में 14 जिले में वोट डाले जाएंगे.

प्रेस कान्फ्रेंस में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति ने कहा कि गुजरात की 182 सीटों पर कुल 4.30 करोड़ वोटर हैं. चुनावों के लिए 50,128 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं. उन्होंने कहा कि गुजराती भाषा में भी वोटिंग गाइड दी जाएगी. चुनावों में VVPAT का इस्तेमाल होगा.

अचल कुमार ज्योति ने कहा कि हर पोलिंग बूथ पर एक महिला चुनावकर्मी मौजूद रहेगी, ऐसा गुजरात के चुनावों में पहली बार होगा. सभी उम्मीदवारों को हलफनामा भरना होगा. अगर हलफनामे में कोई भी कॉलम खाली रहता है, तो उम्मीदवार को नोटिस भेजा जाएगा. हर सीट की पोलिंग बूथ की VVPAT पर्चियों की गिनती होगी. 102 बूथ पर महिला पोलिंग स्टाफ मौजूद रहेगा.

ओपिनियन पोल: गुजरात में मोदी को कोई और नहीं सिर्फ मोदी ही हरा सकते हैं!

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि सभी बड़ी चुनावी रैलियों की वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी. आज से ही आचार संहिता लागू होगी. इसके अलावा बॉर्डर चेकपोस्ट की भी सीसीटीवी के द्वारा निगरानी रखी जाएगी.

उम्मीदवार कर सकता है 28 लाख का खर्च

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि हर उम्मीदवार 28 लाख रुपये ही खर्च कर सकता है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट खर्च पर निगरानी रखेगा, इसके अलावा बाहर से शराब लाने पर भी नजर रखी जाएगी. हर उम्मीदवार को अपना अलग नया खाता खोलना होगा, उससे ही वह चुनावी खर्च कर सकेगा.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि वोटरों के लिए हेल्पलाइन सेंटर खोले जाएंगे. टीवी, एफएम, सिनेमा में आने वाले विज्ञापनों पर भी नजर रहेगी. शिकायत दर्ज कराने के लिए एप तैयार किया गया है, जिसपर वोटर शिकायत कर सकते हैं. सभी बूथों की वेबकास्टिंग की जाएगी.

हिमाचल प्रदेश चुनावों की तारीख का ऐलान करने के बाद लगातार विपक्ष चुनाव आयोग पर गुजरात की तारीखों का ऐलान ना करने के लिए निशाना साध रहा था. आपको बता दें कि 18 दिसंबर को हिमाचल चुनाव की मतगणना होगी.

चुनावी सर्वे में खुली कांग्रेस की पोल, सत्ता के 22 साल बाद भी BJP को मिल सकती है दोगुनी सीट!

सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस

गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान ना होने से नाराज कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट चली गई है. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी सरकार जानबूझकर तारीखों के ऐलान में देरी कर रही है, ताकि लोकलुभावन घोषणाओं के लिए मौका मिल सके.

बाढ़ राहत कार्यों की वजह से देरी

मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति ने कहा था कि बाढ़ से प्रभावित गुजरात में राहत कार्य जारी है और ऐसे में काफी संख्या में सरकारी बल इस कार्य में लगा हुआ है. राज्य सरकार के 26443 कर्मचारियों को चुनाव की ड्यूटी में लगाया जाना है. जो स्टाफ अभी राहत कार्य में लगा हुआ है, उसी स्टाफ को चुनाव की ड्यूटी में भी लगाया जाएगा क्योंकि चुनाव आयोग स्टाफ की आपूर्ति नहीं करता है.

ओपिनियन पोल में गुजरात में बीजेपी सरकार

चुनाव तारीखों के ऐलान से पहले इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया ने ओपिनियन पोल कराया, जिससे साफ है कि भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर अपने गढ़ गुजरात को बचाने में कामयाब हो रही है. 182 विधानसभा सीटों के लिए कराए गए ओपिनियन पोल के मुताबिक बीजेपी 115 से 125 सीटों पर जीत का परचम लहराने जा रही है. गुजरात की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के खाते में 57 से 65 सीटें आती दिख रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay