एडवांस्ड सर्च

मिर्ची अटैक मामले में केस दर्ज, राजनाथ ने किया केजरीवाल को फोन

दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मिर्च फेंकने के मामले में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उनसे फोन पर बात की और मामले में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कराने को कहा.

Advertisement
aajtak.in
पंकज जैन / अजीत तिवारी नई दिल्ली, 21 November 2018
मिर्ची अटैक मामले में केस दर्ज, राजनाथ ने किया केजरीवाल को फोन अरविंद केजरीवाल और राजनाथ सिंह (फाइल फोटो- PTI)

दिल्ली सचिवालय में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मिर्च फेंकने का आरोपी अनिल कुमार बार-बार अपना बयान बदल रहा है. पुलिस सूत्रों की मानें तो अनिल किसी भी सवाल का ढंग से जवाब नहीं दे रहा है. कभी वो खुद को प्राइवेट कम्पनी का कर्मचारी बता रहा है तो कभी खुद को देशभक्त कहने लगता है. इस बीच मंगलवार रात गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को फोन कर हाल जाना और मामले में केस दर्ज कराने की सलाह दी.

पुलिस से पूछताछ में अपनी हर बात को वो बदल रहा है. अनिल अभी तक अनिल ने हमले के पीछे की कोई ठोस वजह भी नहीं बताई है. उसके राजनीतिक जुड़ाव होने का भी कोई सबूत नहीं मिला है. उसके परिवार से भी अभी तक कोई सामने नहीं आया है. दिल्ली पुलिस ने आरोपी अनिल के खिलाफ आईपीसी की धारा 186, 323, 334 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है. बुधवार दोपहर पुलिस अनिल को कोर्ट में पेश करेगी और रिमांड की मांग करेगी.

दिल्ली सचिवालय स्थित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय के बाहर आरोपी अनिल कुमार ने मंगलवार को उन पर लाल मिर्च का पाउडर फेंका था. वारदात के बाद दिल्ली पुलिस ने अनिल को गिरफ्तार कर लिया और इस घटना के संबंध में आईपी एस्टेट थाने में केस दर्ज कर पूछताछ की.

दिल्ली पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि आरोपी अनिल शर्मा अपनी मां के मेडिकल ट्रीटमेंट की एप्लीकेशन लेकर सचिवालय गया था. आरोपी की मां बीमार है. वह सहायता के लिए सीएम से मिलने पहुंचा था. उसी आधार पर उसे एंट्री मिली. इधर इस हमले का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गया है.

पुलिस पूछताछ में अनिल ने खुद को सच्चा देशभक्त बताया. अनिल कह रहा है कि वह देश के लिए काम करता है देश के लिए सोचता है. फिलहाल सचिवालय में ही पुलिस अधिकारी उससे पूछताछ कर रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि अभी तक की जांच में यह बात सामने आई है कि सीएम के ऊपर चिली पाउडर नहीं फेंका गया.

राजनाथ सिंह ने किया केजरीवाल को फोन, कहा- दर्ज कराएं FIR

आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने आजतक से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री पर हुए हमले को लेकर मंगलवार रात गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने केजरीवाल के पास फोन किया और जानकारी ली. साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री से FIR दर्ज कराने के लिए कहा.

हालांकि, राघव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, 'हैरानी की बात है कि कल अगर पीएम के साथ ऐसा कुछ हुआ तो क्या वो FIR कराने जाएंगे. जब गृहमंत्री का फोन आया तब वो शख्स पुलिस की हिरासत में था.'

उन्होंने कहा कि सिग्नेचर ब्रिज पर सीएम पर हमला हुआ और मामले में FIR सीएम के खिलाफ कर दी गई. साथ ही राघव ने कहा कि चार्जशीट फाइल होती है और मुझे कोर्ट में बुलाया गया तो चश्मदीद गवाह बनकर जाऊंगा. ये बीजेपी का अटैक किसी एक व्यक्ति पर नही बल्कि दिल्ली की जनता पर है.

केजरीवाल तक कैसे पहुंचा शख्स?

'आप' का आरोप है कि दिल्ली पुलिस ने अब तक सीएम पर हुए तमाम हमलों में चार्जशीट दाखिल नहीं की. दिल्ली पुलिस अपने ही मुख्यमंत्री की रक्षा नहीं कर पाती है. ये लापरवाही कम और मिलीभगत ज्यादा नजर आती है. साथ ही AAP ने सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री के दफ्तर के दरवाजे पर एक शख्स कैसे पहुंचा?

आम आदमी पार्टी (आप) ने इस हमले को 'राजनीति से प्रेरित' बताया और कहा कि मुख्यमंत्री पर हमले के लिए भाजपा ने दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर साजिश रची. आप ने आरोप लगाया कि केजरीवाल पर यह तीसरा हमला है. दिल्ली पुलिस ने घटना के संबंध में एक बयान जारी किया लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया कि व्यक्ति ने मिर्च पाउडर फेंका है अथवा नहीं. बयान में कहा गया कि व्यक्ति अनिल कुमार शर्मा के पास एक पाउच था जिसमें मिर्च पाउडर जैसा कुछ था.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि देर रात दिल्ली पुलिस ने आईपी एस्टेट थाने में शर्मा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की है. उन्होंने हालांकि कहा कि सचिवालय से उन्हें कोई औपचारिक शिकायत नहीं प्राप्त हुई है.

उन्होंने बताया कि शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है. जांच से पता चला है कि आरोपी अस्थिर है. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा की 'ओछी चाल' के आगे उनकी पार्टी नहीं झुकेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay