एडवांस्ड सर्च

गठबंधन पर राहुल गांधी को केजरीवाल का जवाबी ट्वीट, पूछा- कौन सा यू टर्न!

दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने की अटकलों पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए अपनी इच्छा जाहिर कर दी है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, अगर AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन होता है तो फिर दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के लिए राह आसान नहीं होगी.

Advertisement
पंकज जैन/ मणिदीप शर्मा [Edited by: मलाइका इमाम]नई दिल्ली, 15 April 2019
गठबंधन पर राहुल गांधी को केजरीवाल का जवाबी ट्वीट, पूछा- कौन सा यू टर्न! दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल. photo- pti

दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के एक साथ मिलकर चुनाव लड़ने की अटकलों को राहुल गांधी ने ट्वीट कर एक नया मोड़ दे दिया है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, अगर AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन होता है तो फिर दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के लिए राह आसान नहीं होगी. साथ ही राहुल गांधी ने लिखा कि कांग्रेस AAP को 4 सीटें देना चाहती है, लेकिन सीएम केजरीवाल ने एक और यू टर्न ले लिया! आगे राहुल गांधी ने कहा कि हमारा दरवाजा अभी भी खुला है. हालांकि, राहुल के ट्वीट पर जवाब देते हुए सीएम केजरीवाल ने पूछा कि, कौन सा U-टर्न?

But, Mr Kejriwal has done yet another U turn!

Our doors are still open, but the clock is running out. #AbAAPkiBaari

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) April 15, 2019

गौरतलब है कि कांग्रेस का मेनिफेस्टो जारी करने के बाद राहुल गांधी से जब AAP और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने गोलमोल ही जवाब दिया था. हालांकि, ये पहला मौका है जब राहुल गांधी ने ट्वीट कर आप के साथ गठबंधन पर तमाम अटकलों को दरकिनार करते हुए अपनी इच्छा जाहिर की है.

वहीं, राहुल गांधी के इस ट्वीट पर जवाबी ट्वीट करते हुए सीएम केजरीवाल ने लिखा,  कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी....

इसके अलावा राहुल गांधी के ट्वीट पर कविराज कुमार विश्वास ने भी कुछ लिखा. विश्वास ने अपने ही अंदाज में दोनों ही नेताओं पर तंज कसते हुए लिखा...

बता दें कि बीते दिनों "आजतक" से बातचीत करते हुए दिल्ली में कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको ने बताया था कांग्रेस पार्टी बीजेपी को केंद्र में आने से रोकने के लिए क्षेत्रीय दलों से गठबंधन की पक्षधर है. चाको ने ये भी बताया कि AAP नेता संजय सिंह से कई बार बातचीत भी हुई, लेकिन आम आदमी पार्टी हरियाणा और पंजाब में भी सीटों पर बातचीत करना चाहती थी, जिस वजह से दिल्ली में 7 सीटों पर सहमति नहीं बन पाई. उन्होंने बताया कि दिल्ली में कांग्रेस का फार्मूला 4-3 का था, यानी 4 सीट आम आदमी पार्टी और 3 सीट पर कांग्रेस. पीसी चाको ने कहा कि यदि आम आदमी पार्टी सिर्फ दिल्ली में गठबंधन चाहती है तो आज भी कांग्रेस बातचीत को तैयार है.

हाल ही में संजय सिंह ने इस गठबंधन पर कहा था कि जिस पंजाब में आम आदमी पार्टी के 4 सांसद हैं और 20 विधायक हैं वहां पर कांग्रेस एक भी सीट देने को तैयार नहीं, जिस हरियाणा में कांग्रेस का केवल एक सांसद है वहां पर भी कांग्रेस सीट देने को तैयार नहीं, गोवा में आम आदमी पार्टी ने 6 फ़ीसदी से ज्यादा वोट हासिल किया था, वहां पर भी सीट देने को तैयार नहीं, चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी तीसरे नंबर पर रही थी वहां पर भी कांग्रेस समझौते को तैयार नहीं, लेकिन दिल्ली में जहां कांग्रेस की ना तो कोई लोकसभा सीट है ना ही कोई विधानसभा सीट वहां पर आम आदमी पार्टी से 3 सीट चाहती है जो कि पूरी तरह से अव्यवहारिक था, इसलिए कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं हो सकता.

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़लेटर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay