एडवांस्ड सर्च

दिल्ली: शहीदों की याद में 10000 किमी की यात्रा पर निकला ये शख्स

एक तरफ केंद्र सरकार सर्जिकल स्ट्राइक की वर्षगांठ पर पराक्रम पर्व मना रही है. वहीं दिल्ली का एक एरिक नामक शख्स, जिसने कार एक्सिडेंट में अपने पैर गंवा दिए उसने शहीदों की शहादत का संदेश लेकर 10000 किमी का सफर करना तय किया है.

Advertisement
aajtak.in
अंकित यादव / विवेक पाठक नई दिल्ली, 30 September 2018
दिल्ली: शहीदों की याद में 10000 किमी की यात्रा पर निकला ये शख्स शहीदों की शहादत का संदेश लेकर 10000 किमी का यात्रा पर निकले एरिक

दिल्ली के रोहिणी में रहने वाले एरिक पॉल भले ही पैरों से विकलांग है, लेकिन उनके इरादे बेहद बुलंद है, एरिक इस बार फिर से अपनी स्पेशल कार के जरिए 10 हजार किलोमीटर से ज्यादा का सफ़र करने वाले हैं.

शहीदो की शहादत को जिंदा रखने के इरादे से एरिक का सफर कारगिल से शुरू होकर पूरे हिमालय घाटी तक चलने वाला है. उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर आदेश गुप्ता ने हरी झंडी दिखाकर एरिक के सफर की शुरुआत की.

स्पेशल कार से होगा दस हजार किलोमीटर का सफर

एरिक पॉल बताते हैं कि साल 2011 में उनका कार एक्सीडेंट हो गया था और उसके बाद वो पैरों से दिव्यांग हो गएं. अपने कठिन वक्त में जिंदगी को बेहतर बनाने और समाज के लिए क्या कुछ कर सकने के जज्बें के चलते एरिक ने एक दिन फैसला किया है कि वो अपने ड्राइविंग के शौक को जारी रखेंगे और कुछ ऐसा काम करेंगे जिससे समाज को भी संदेश मिले. जिसके बाद एरिक ने अपनी कार में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव कराए मसलन ब्रेक-एक्सीलेटर-क्लच पैरों की जगह काम करने के बजाय हांथो से काम करने लायक हैंडल लगवाए.

युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं एरिक

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर आदेश गुप्ता ने एरिक की इस यात्रा का समर्थन करते हुए उनका हौसला अफजाई की और साथ ही इस यात्रा को हरी झंडी दिखाई. मेयर ने कहा कि इस तरह की सोच युवाओं के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है और एरिक ने पहले भी स्वछता अभियान के नाम से ऐसी ही यात्रा निकाली थी इसके लिए नगर निगम की ओर से उनको सम्मानित काय गया था. एरिक का ये सफर दस हजार किलोमीटर का है जिसमें उन्हें नेपाल और भूटान का सफर भी करना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay