एडवांस्ड सर्च

दिल्ली: शिक्षा,स्वास्थ्य में फेल हुई नॉर्थ एमसीडी, सवालों से भागे मेयर

उत्तरी दिल्ली नगर निगम में विपक्ष के नेताओं ने बजट पर चर्चा की. इस दौरान उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस पार्षद दल के नेता मुकेश गोयल ने सत्ता पक्ष की धज्जियां उड़ा दी. शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र पर दिल्ली नगर निगम पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाते हुए मुकेश गोयल ने आंकड़ों के साथ मेयर पर निशाना साधा.

Advertisement
aajtak.in
अंकित यादव नई दिल्ली, 08 February 2019
दिल्ली: शिक्षा,स्वास्थ्य में फेल हुई नॉर्थ एमसीडी, सवालों से भागे मेयर उत्तरी दिल्ली नगर निगम (फोटो- अंकित यादव)

उत्तरी दिल्ली नगर निगम में विपक्ष के नेताओं ने बजट पर चर्चा की. इस दौरान उत्तरी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस पार्षद दल के नेता मुकेश गोयल ने सत्ता पक्ष की धज्जियां उड़ा दी. शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र पर दिल्ली नगर निगम पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाते हुए मुकेश गोयल ने आंकड़ों के साथ मेयर पर निशाना साधा. विपक्ष ने आरोप लगाया कि शिक्षा और स्वास्थ्य में आए करोड़ों रुपया में से दिल्ली नगर निगम ने एक पैसा भी ख़र्च नहीं किया.

वर्ष 2018-19 लिए छात्राओं की छात्रवृत्ति के लिए पांच करोड़ रुपये दिए गए थे लेकिन एक भी पैसा ख़र्च नहीं किया गया. इसी तरह स्कूलों में सुरक्षा गार्ड रखने के लिए, स्टूडेंट्स के बीमा के लिए, स्कूलों में CCTV लगाने के लिए करोड़ों रुपया का प्रावधान किया गया था लेकिन एक पैसा भी ख़र्च नहीं किया गया. इतना ही नहीं, स्वास्थ्य सेवाओं में भी दिल्ली नगर निगम ने जमकर लापरवाही बरती है.

वित्त वर्ष ख़त्म होने को है लेकिन अस्पताल में दवाइयों की ख़रीद के लिए आया पैसा वैसे का वैसा ही पड़ा है. हैरानी की बात यह कि बिना दवा खरीदे अस्पताल चल रहे हैं. मसलन चार आयुर्वेद अस्पताल में दवा ख़रीद के लिए आए चार करोड़ 20 लाख रुपये में से एक पैसा भी ख़र्च नहीं किया गया.

बजट चर्चा में ये बात भी सामने निकलकर आई कि दिल्ली नगर निगम के कई अस्पतालों में पीने के पानी का कनेक्शन तक नहीं है. डिप्थीरिया रोग से दिल्ली नगर निगम के महर्षि वाल्मीकि अस्पताल में बीते दो वर्षों में 98 रोगियों की मौत पर विपक्ष ने गंभीर आरोप लगाए. वहीं बीजेपी पार्षद जय प्रकाश ने फंड की कमी के लिए केजरीवाल सरकार व पूर्व की शीला सरकार को जिम्मेदार ठहराया तो वहीं नेता सदन तिलक राज कटारिया ने विपक्ष के आरोपों को सिरे से नकार दिया.

सवालों से भागे मेयर

वहीं बजट चर्चा पर उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर आदेश गुप्ता आजतक के सवालों से भागते नज़र आए. कई बार कोशिश के बावजूद मेयर ने सवालों पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी. बहरहाल एक बात तो साफ़ है कि आंकड़े झूठ नहीं बोलते हैं और आंकड़े साफ़-साफ़ गवाही दे रहे हैं कि दिल्ली नगर निगम फंड ख़र्च करने में बेहद लापरवाह दिखा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay