एडवांस्ड सर्च

दिल्ली: 60 हजार आबादी पर एक वार्ड बनाने की तैयारी, बदलेंगे सियासी समीकरण

दिल्ली की सियासी तस्वीर बदलने वाली है. दिल्ली के सभी 272 वार्डों का नक्शा अगले कुछ दिनों में बदल जाएगा. दिल्ली के राज्य चुनाव आयोग ने जो खाका तैयार किया है उसके मुताबिक एक विधानसभा में 3 से लेकर 7 वार्ड तक होंगे, यानी हर 60 हजार की आबादी पर एक वार्ड होगा.

Advertisement
aajtak.in
अमित कुमार दुबे/ कुमार कुणाल नई दिल्ली, 21 May 2016
दिल्ली: 60 हजार आबादी पर एक वार्ड बनाने की तैयारी, बदलेंगे सियासी समीकरण

दिल्ली की सियासी तस्वीर बदलने वाली है. दिल्ली के सभी 272 वार्डों का नक्शा अगले कुछ दिनों में बदल जाएगा. दिल्ली के राज्य चुनाव आयोग ने जो खाका तैयार किया है उसके मुताबिक एक विधानसभा में 3 से लेकर 7 वार्ड तक होंगे, यानी हर 60 हजार की आबादी पर एक वार्ड होगा. लेकिन ये बदलाव सियासी पार्टियों को पसंद नहीं आ रहा है और अब तक आयोग को 80 से ज्यादा सुझाव मिल चुके हैं जिनमें इन बदलावों पर ऐतराज जताया गया है.

MCD वार्डों के डिलिमिटेशन की कवायद
दरअसल दिल्ली के नगर निगम वार्ड के डिलिमिटेशन की कवायद शुरू हो गई. 272 में से लगभग 175 वार्ड तो पूरी तरह बदल जाएंगे, जब 15 जून तक पब्लिक के बीच इसकी पूरी रूपरेखा आ जाएगी. यानी हर 60 हजार की आबादी पर दिल्ली का एक नया वार्ड बनेगा. दिल्ली के चुनाव आयुक्त राकेश मेहता ने कहा कि '2011 की जनसंख्या के मुताबिक नए वार्डों को बनाने की तैयारी चल रही है. अगस्त के अंत तक डिलिमिटेशन का काम पूरा हो जाएगा, जिसके बाद इसे हम दिल्ली सरकार को सौंप देंगे'.

विकासपुरी में 7 वार्ड बनाने की तैयारी
टीवी टुडे नेटवर्क के पास आयोग की तैयार की हुई वो एक्सक्लूसिव रिपोर्ट है, जिसमें किस विधानसभा में कितनी सीटें होंगी उनकी जानकारी है. जहां विकासपुरी और मटियाला सरीखे विधानसभाओं में 7-7 वार्ड बनेंगे. वहीं बुराड़ी, बवाना, किराड़ी और बदरपुर में वार्ड की संख्या 6 तक जा सकती है. पांच वार्ड वाली विधानसभाओं में नरेला, बादली, मुंडका, रिठाला, उत्तम नगर, नजफगढ़, बिजवासन, देवली, ओखला, गोकुलपुर, मुस्तफाबाद और करावलनगर का नाम शुमार है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay