एडवांस्ड सर्च

AAP में बिखरे-बिखरे से 'विश्वास', शायरी के साथ दिया जवाब

पहले कुमार विश्वास का नाम वक्ताओं की लिस्ट में नहीं था, लेकिन जब वह कार्यक्रम में पहुंचे तो आप कार्यकर्ताओं ने इस पर आपत्ति जताई. तब जाकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उन्हें संबोधन के लिए आमंत्रित किया, लेकिन विश्वास ने ही बोलने से इनकार कर दिया.

Advertisement
aajtak.in
मोहित ग्रोवर नई दिल्ली, 03 November 2017
AAP में बिखरे-बिखरे से 'विश्वास', शायरी के साथ दिया जवाब क्या बोलेंगे कुमार विश्वास?

आम आदमी पार्टी की आंतरिक लड़ाई थमने का नाम नहीं ले रही है. राष्ट्रीय परिषद की बैठक में ये लड़ाई खुलकर सामने आ रही है. मशहूर कवि और आप नेता कुमार विश्वास इस लड़ाई में थोड़े अलग-थलग से नजर आ रहे हैं. आप विधायक अमानतुल्ला खां को जबसे पार्टी ने वापस बुलाया है, तभी से ऐसी विश्वास की नाराजगी एक बार फिर उभर कर आई.

विश्वास ने अमानतुल्ला खां के निलंबन वापस होने के बाद कहा था कि वह सिर्फ एक मुखौटा है, जड़ कोई और है. तो वहीं गुरुवार को खबर आई कि जब कुमार विश्वास नेशनल काउंसिल में पहुंचे तो अमानतुल्ला खां के समर्थकों ने उनकी गाड़ी रोकने की कोशिश की ऐसा ही विश्वास के समर्थकों ने अमानतुल्ला खां के साथ किया.

पहले कुमार विश्वास का नाम वक्ताओं की लिस्ट में नहीं था, लेकिन जब वह कार्यक्रम में पहुंचे तो आप कार्यकर्ताओं ने इस पर आपत्ति जताई. तब जाकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उन्हें संबोधन के लिए आमंत्रित किया, लेकिन विश्वास ने ही बोलने से इनकार कर दिया.

कुमार विश्वास मंच पर तो नहीं बोले लेकिन, ट्विटर पर अपनी कुछ पंक्तियों से सबकुछ जता दिया. कुमार ने ट्वीट किया, ' ख़ुशियों के बेदर्द लुटेरो, ग़म बोले तो क्या होगा. ख़ामोशी से डरने वालों, 'हम' बोले तो क्या होगा..?? 🤔.

यह पहली बार नहीं है कि आम आदमी पार्टी में इस प्रकार की जंग चल रही हो. इससे पहले जब अमानतुल्ला खां ने ही कुमार विश्वास पर आरोपों की झड़ी लगा दी थी, तब भी विश्वास खासे नाराज हुए थे. हालांकि, उन्हें बाद में समझा लिया गया था. कुमार विश्वास इन दिनों राजस्थान आम आदमी पार्टी के प्रभारी हैं. वह लगातार जगह-जगह कई छोटे-छोटे कार्यक्रम कर रहे हैं. उनकी अगुवाई में ही राजस्थान में स्टूडेंट इलेक्शन में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी.

हालांकि, सवाल अब ये हो खड़ा होता है कि विश्वास ने ट्वीट के जरिए तो निशाना साध दिया कि हम बोले तो क्या होगा. तो क्या कुमार विश्वास अब जब भी बोलेंगे या अपना कोई संबोधन देंगे तो देखना यह होगा कि उनके निशाने पर कौन होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay