एडवांस्ड सर्च

Advertisement

पके हुए भोजन की बजाय ड्राई फूड पर दिल्ली सरकार का फोकस: AAP मंत्री

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील की गड़बड़ी थमने का नाम नहीं ले रही है. बुधवार को बाहरी दिल्ली के नरेला में एक सरकारी स्कूल में  मिड डे मील खाने के बाद कई बच्चे बीमार पड़ गए.
पके हुए भोजन की बजाय ड्राई फूड पर दिल्ली सरकार का फोकस: AAP मंत्री राजेंद्र गौतम
पंकज जैन [Edited by: मोनिका गुप्ता]नई दिल्ली, 12 July 2018

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील की गड़बड़ी थमने का नाम नहीं ले रही है. बुधवार को बाहरी दिल्ली के नरेला में एक सरकारी स्कूल में  मिड डे मील खाने के बाद कई बच्चे बीमार पड़ गए. इसके बाद मंत्री राजेंद्र गौतम ने नरेला में बीमार बच्चों और उनके अभिभावकों से मुलाक़ात की थी.

पके भोजन में छिपकली गिरने की बढ़ती घटनाओं और धीमी कार्रवाई के सवाल पर महिला एवं बाल विकास मंत्री राजेंद्र गौतम ने आजतक को बातचीत में बताया कि अब सरकार पके हुए भोजन के अलावा ड्राई फूड पर फोकस करेगी.

राजेंद्र गौतम ने कहा कि दिल्ली सरकार सख्त एक्शन ले रही है. पिछले मामले में एफआइआर भी दर्ज हो रही है. साथ उस संस्था का लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने स्कूलों में मिड डे मील सप्लाई करने वाली तमाम संस्थाओं को बैठक के लिए बुलाया है. उन्हें इस तरह की घटना के बारे अवगत कराकर सावधानी बरतने के लिए आदेश दिए जाएंगे.

मंत्री ने 'आजतक' से खास बातचीत में बताया कि अभिभावक काफी ज्यादा चिंतित है और सरकार काफी ज्यादा गंभीर है. फ़िलहाल इस तरह की संभावनाएं तलाशी जाएंगी कि पका हुआ भोजन देने की बजाय स्कूली बच्चों को ड्राई फ्रूड दें. जैसे उबला हुआ अंडा या फल खाने में दिया जा सकता है.

क्या पका हुआ खाना मिड डे मील में पूरी तरह बंद हो जाएगा? इस सवाल के जवाब में मंत्री राजेंद्र गौतम ने कहा कि कानूनी तौर पर उचित हुआ तो फल या पैकेट दे सकते हैं क्योंकि जहां खाना पकाया जाता है वहां लापरवाही होती है. ऐसे में बार बार घटनाएं सामने आएंगी तो बच्चे खाना नहीं खाएंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay