एडवांस्ड सर्च

झुग्गियों में रहने वाले लोगों पर भी नोटबंदी का असर

नोटबंदी के बाद से ही इन सभी के रोजाना के खर्च पर सीधा काफी फर्क पढ़ा है. यहां रहने वाले लोग कहते है कि कैश ना होने की वजह से किराये पर रहने वाले लोगों को घर से बाहर कर दिया गया है.

Advertisement
शुभम गुप्ता [Edited By: मोहित ग्रोवर]नई दिल्ली, 09 December 2016
झुग्गियों में रहने वाले लोगों पर भी नोटबंदी का असर झुग्गी वालों पर नोटबंदी का असर

नोटबंदी के कारण देश के तमाम तबकों पर सीधा असर पड़ रहा है. दिल्ली की गीता कालोनी झुग्गियों में अधिकतर मजदूर, फल बेचने वाले आदि छोटे तबके के लोग रहते है.

नोटबंदी के बाद से ही इन सभी के रोजाना के खर्च पर सीधा काफी फर्क पढ़ा है. यहां रहने वाले लोग कहते है कि कैश ना होने की वजह से किराये पर रहने वाले लोगों को घर से बाहर कर दिया गया है. यहां रहने वाले ज्यादातर लोग दिहाड़ी का काम करते है और लेकिन ना अब कोई काम है और ना ही कोई काम बचा है. कई लोग जो दूसरों के यहां काम करते है, वह भी सैलरी ना मिल पाने की वजह से परेशान है.

गौरतलब है कि नोटबंदी की वजह से दिन-दर-दिन लोगों की मुश्किलें बढ़ती जा रही है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay