एडवांस्ड सर्च

दिल्ली: पीतमपुरा के एक अपार्टमेंट में लगी भीषण आग, बचाए गए 100 लोग

दिल्ली के पीतमपुरा इलाके स्थित टावर हाइट अपार्टमेंट्स में गुरुवार देर रात भीषण आग लग गई. यह इमारत 10 मंजिला है. आग इस इमारत के फ्लैट नंबर 502 में लगी है. आग लगने की सूचना मिलते ही मौके पर फायर ब्रिगेड की 13 गाड़ियां पहुंच गईं. आग पर काबू पा लिया गया है.

Advertisement
aajtak.in
चिराग गोठी / रामकिंकर सिंह नई दिल्ली, 20 June 2019
दिल्ली: पीतमपुरा के एक अपार्टमेंट में लगी भीषण आग, बचाए गए 100 लोग इमारत में आग लगी (फोटो- चिराग गोठी)

दिल्ली से एक बड़ी खबर आ रही है. यहां के पीतमपुरा इलाके स्थित टावर हाइट अपार्टमेंट्स में गुरुवार देर रात भीषण आग लग गई. यह इमारत 10 मंजिला है. आग इस इमारत के फ्लैट नंबर 502 में लगी है. आग लगने की सूचना मिलते ही मौके पर फायर ब्रिगेड की 13 गाड़ियां पहुंच गईं. आग पर काबू पा लिया गया है. फिलहाल 100 से अधिक लोगों को बचाया गया है. इस बिल्डिंग में लगे फायर इक्विपमेंट ने आग लगने पर काम नहीं किया.

इस दुर्घटना में हालांकि किसी के घायल होने की सूचना नहीं है. आग लगने के कारण का अभी पता नहीं चला सका है. आग जिस अपार्टमेंट में लगी वो टावर हाइट अपार्टमेंट्स के क्यूडी ब्लॉक में स्थित है. इस इमारत में 40 फ्लैट हैं. दस मंजिला इस इमारत के फ्लैट नंबर 502 में आग लगी. जिसकी वजह से पूरी बिल्डिंग में चारों ओर धुंआ फैल गया.

fire_062019090816.jpg

आग लगने की सूचना मिलने के तुरंत बाद अग्निशमन की 13 गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच गईं जिससे समय रहते आगू पर काबू पाया जा सका. इमारत में आग गुरुवार रात करीब एक बजकर 10 मिनट पर लगी. आग से फ्लैट नंबर 502 के लिफ्ट वाली जगह ज्यादा क्षतिग्रस्त हुई.

पांचवें फ्लोर पर स्थित एक फ्लैट में आग लगी जिसके बाद यह सीढ़ियों से होते हुए बालकनी तक पहुंच गई. इससे हर तरफ घुंए का गुबार छा गया. जिधर देखो उधर धुआं ही धुआं था. इस दौरान इमारत में मौजूद लोगों के बीच भगदड़ मच गई. कुछ लोग जान बचाने के लिए एक बालकनी से दूसरी बालकनी में कूद गए जहां वो अपनी जान बचाने के लिए भागे.

हालांकि, इस दौरान कुछ लोग वहां फंस गए थे जिनमें ज्यादातर बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे थे जिन्हें आसपास के लोगों ने बचाया. कुछ लोगों के शरीर में धुआं घुसने से परेशानी होने की खबर है. जिस फ्लैट में आग लगी वो नरेंद्र जैन नाम के व्यक्ति का है. इस बीच, लोगों ने आरोप लगाया कि फायर बिग्रेड की गाड़ियां देरी से पहुंचीं.

इमारत में रहने वाले लोगों ने बताया कि किस तरह से उनको आग लगने के बारे में फोन आया. वह उठे जब बाहर आए तो उन्होंने देखा कि इमारत में हर धुआं और आग लगी थी. कई लोग तो अपने आप को बचाने के लिए उसी धुएं में घुस गए ताकि वह किसी तरह से बाहर निकल सकें. ज्यादातर लोग छत के सहारे दूसरी बिल्डिंग में पहुंचे और तब वह बचे.

एक बुजुर्ग का कहना था कि उनके शरीर के अंदर इतना धुआं घुस गया कि उन्हें अभी तक सांस लेने में तकलीफ हो रही है. खुद को बचाने के चक्कर में यह बुजुर्ग गिर भी गया. वहीं 10वें फ्लोर पर एक बुजुर्ग रहते हैं, जो बीमार भी रहते हैं. उनकी उम्र 90 साल है. उनको आसपास के लोगों ने बचाया क्योंकि वह चल फिरने में भी असमर्थ हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay