एडवांस्ड सर्च

दिल्ली में मरने के बाद नहीं मिलेगी दो गज जमीन, रिपोर्ट में खुलासा

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग की एक रिपोर्ट में दावा किया गया कि दिल्ली में 704 कब्रिस्तान हैं. इनमें से सिर्फ 131 में शवों को दफनाया जा रहा है.

Advertisement
aajtak.in
सुशांत मेहरा नई दिल्ली, 11 December 2018
दिल्ली में मरने के बाद नहीं मिलेगी दो गज जमीन, रिपोर्ट में खुलासा प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्ली में जल्द ही लोगों को दफ़नाने के लिए क़ब्रिस्तान में जगह नहीं बचेगी. ऐसा दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है. दरअसल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरावाल ने आयोग की सालाना रिपोर्ट जारी की, जिसमें ये पता चला है कि दिल्ली की कब्रगाहों में अब बहुत कम जगह ही बाकी रह गई है. आयोग ने इस मामले पर 2017 में ह्यूमन डेवलपमेंट सोसाइटी के जरिये सर्वे करवाया था. सर्वे की रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं.

सर्वे के मुताबिक, दिल्ली में हर साल औसतन 13,000 मुस्लिमों के शव दफन किए जाते हैं. मौजूदा समय में दिल्ली में 704 कब्रिस्तान हैं, जिनमें से केवल 131 में ही शवों को दफनाया जा रहा है. इनमें से भी 16 ऐसे हैं, जिन पर मुक़दमे चल रहे हैं. इसी वजह से शव दफन नहीं हो पा रहे हैं.

इसके अलावा 43 ऐसे क़ब्रिस्तान हैं, जहां पर अवैध निर्माण कर दिया गया है. इस रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि शहर के ज्यादातर कब्रिस्तान छोटे हैं, जो 10 बीघा या उससे कम में बने हैं और उनमें से 46 प्रतिशत 5 बीघा या उससे कम एरिया में बने हैं.

 वहीं, इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद अल्पसंख्यक आयोग के चैयरमेन जफ्फरूल इस्लाम खान ने सरकार को कुछ सुझाव भी दिए है. जिसमें कहा गया है कि अब अस्थिर क़ब्रगाह बनाई जानी चाहिए ताकि कुछ समय बाद एक क़ब्र की जगह पर ही दूसरी क़ब्र तैयार की जा सके.

वहीं, मुस्लिम धर्मगुरु शाही इमाम मोहिबुल्लाह नदवी की मानें तो इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद से चिंताएं काफी ज्यादा बढ़ गई हैं. धर्मगुरु कहते हैं कि इस्लाम में मरने के बाद शव को दफ़नाना एक बेहद ज़रूरी प्रक्रिया है, ऐसे में सरकारों को इस पर जल्द ध्यान देना चाहिए. फिलहाल, आयोग की इस रिपोर्ट पर सरकार अलग-अलग संस्थाओं से सुझाव मांगकर जल्द कोई हल निकालने की बात कर रही है, क्योंकि अगर इस तरफ जल्द ध्यान नहीं दिया गया तो मुस्लिम समुदाय की नाराज़गी भी सरकार को झेलनी पड़ सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay