एडवांस्ड सर्च

दिल्ली: शेल्टर होम से कैसे गायब हुईं 9 लड़कियां, कांग्रेस ने सिसोदिया से मांगा इस्तीफा

दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा पर जमकर राजनीति हो रही है. पिछले दिनों  संस्कार आश्रम से 9 लड़कियों के गायब होने पर दिल्ली कांग्रेस प्रदर्शन कर रही है और उसने उपमुख्यमंत्री मनीष केजरीवाल का इस्तीफा मांगा है.

Advertisement
aajtak.in
सुशांत मेहरा नई दिल्ली, 06 December 2018
दिल्ली: शेल्टर होम से कैसे गायब हुईं 9 लड़कियां, कांग्रेस ने सिसोदिया से मांगा इस्तीफा लड़कियों के गायब होने के मामले में कांग्रेस का प्रदर्शन (फोटो-सुशांत)

दिल्ली के संस्कार आश्रम में 9 लड़कियों के गायब होने का मामला गरमाता जा रहा है. दिल्ली महिला कांग्रेस ने गुरुवार को दिल्ली सरकार के खिलाफ जमकर विरोध-प्रदर्शन और नारेबाजी की.

दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी का कहना है कि जब आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी तब महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अरविंद केजरीवाल ने तमाम वादे किए थे, लेकिन आज वो सारे वादे केजरीवाल सरकार भूल गई है.

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली के संस्कार आश्रम से जिस तरह 9 लडकियां गायब हुई हैं. उसके लिए सीधे तौर पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जिम्मेदार हैं. दिल्ली के शेल्टर होम उपमुख्यमंत्री के अंतर्गत आते हैं. ऐसे में 9 लड़कियां जिस तरीके से गायब हुई हैं उसके लिए पूरी तरह से मनीष सिसोदिया जिम्मेदार हैं. इस मामले पर उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.

शर्मिष्ठा मुखर्जी का यह भी कहना था कि आज दिल्ली में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. राज्य में आए दिन रेप होते हैं, लेकिन सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है.

इसके साथ कांग्रेस महिला अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी ने मोदी सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार 'बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ' का नारा देती है, लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में अप्रत्याशित तरीके से 9 बच्चियों के गायब होने पर मोदी सरकार और उनकी दिल्ली पुलिस कोई एक्शन नहीं लेती.

दिलशाद गार्डन स्थित संस्कार आश्रम से 1 और 2 दिसंबर की रात को 9 लड़कियां गायब हो गईं थीं. शेल्टर होम के अधिकारियों को उनके गायब होने की वजह की कोई जानकारी नहीं है. लड़कियां शेल्टर होम में नहीं हैं इसकी जानकारी अधिकारियों को 2 तारीख की सुबह हुई. सभी लड़कियां मानव तस्करी और देह व्यापार से बचाकर यहां लाई गई थीं.

इस मामले पर जीटीबी एन्क्लेव पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. इन 9 लड़कियों को बाल कल्याण समिति- VII के आदेश पर 4 मई 2018 को द्वारका के एक शेल्टर होम से इस शेल्टर होम में लाया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay