एडवांस्ड सर्च

केजरीवाल के बाद उनके मंत्री ने भी कबूला- संगठन की कमजोरी से हारी AAP

गोपाल राय ने आरोप लगाया कि ईवीएम पर उठ रहे सवालों पर मोदी सरकार ने जानबूझकर आंख मूंद रखी है. उनका कहना था कि अगर जरुरत पड़ेगी तो पार्टी इस मसले पर आंदोलन भी कर सकती है.

Advertisement
पंकज जैन [Edited By: दीपक शर्मा]नई दिल्ली, 29 April 2017
केजरीवाल के बाद उनके मंत्री ने भी कबूला- संगठन की कमजोरी से हारी AAP AAP नेता गोपाल राय ने माना संगठन की कमजोरियों से हारी पार्टी

दिल्ली एमसीडी चुनाव में मिली हार के बाद आम आदमी पार्टी में मंथन का दौर शुरू हो गया है. पार्टी के नेता गोपाल राय ने माना है कि संगठन की कमजोरी के चलते ही पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा है.

'कमजोरियों को दूर करेंगे'
आजतक के साथ खास बातचीत में गोपाल राय ने कहा कि पार्टी दिल्ली सरकार के 2 साल के कामकाज को जनता तक नहीं पहुंचा सकी. लेकिन अब जनता के साथ नए सिरे से संवाद कायम करने की दिशा में काम किया जाएगा. राय के मुताबिक पार्टी के नेता सभी वॉलेंटियर्स और नेताओं की बात सुनने का काम कर रहे हैं. सबकी राय जानने के बाद पार्टी को मजबूत बनाने के लिए प्लान तैयार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के लिए दिल्ली विकास की प्रयोगशाला है और यहां लगातार काम हो रहा है.

'ईवीएम पर छेड़ सकते हैं आंदोलन'
गोपाल राय ने आरोप लगाया कि ईवीएम पर उठ रहे सवालों पर मोदी सरकार ने जानबूझकर आंख मूंद रखी है. उनका कहना था कि अगर जरुरत पड़ेगी तो पार्टी इस मसले पर आंदोलन भी कर सकती है. गोपाल राय ने बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी के अरविंद केजरीवाल पर आरोपों का भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि तिवारी खुद ड्रामा करते हैं.

कुमार विश्वास को जवाब
पार्टी के एक और नेता कुमार विश्वास ने हाल ही में पार्टी की रणनीति पर सवाल उठाए थे. गोपाल राय का कहना था कि कुमार विश्वास और वॉलिंटियर्स एक ही बात कह रहे हैं और पार्टी का नेतृत्व संगठन को मजबूत करने के लिए सकारात्मक कदम उठाएगा. उन्होंने दावा किया कि पंजाब का चुनाव लड़ना आसान नहीं था. कुमार विश्वास ने आरोप लगाया था कि पार्टी के फैसले बंद कमरे के भीतर होते हैं. राय ने कहा कि हर पार्टी बंद कमरे या सड़क पर भी फैसले लेती है.

'अन्ना की सुनेंगे'
राय के मुताबिक उनकी पार्टी अन्ना हजारे की हर बात को संजीदगी से लेती है. उनका आरोप था कि अन्ना हजारे को आम आदमी पार्टी का दुश्मन बनाने की कोशिश की जा रही है. राय ने दावा किया मनीष सिसोदिया अन्ना का सम्मान करते हैं और जरुरत पड़ी तो पार्टी के नेता अन्ना से मिलकर उनका मार्गदर्शन लेंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay