एडवांस्ड सर्च

दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बताया भारत से अलग, उठे सवाल

दिल्ली सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है. इसमें आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 23 May 2020
दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बताया भारत से अलग, उठे सवाल विज्ञापन पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी तस्वीर (फाइल फोटोः PTI)

  • नेपाल और भूटान के साथ अलग देश के रूप में किया उल्लेख
  • विज्ञापन पर छपी है मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तस्वीर

कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे देश में दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन ने नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है. दिल्ली सरकार की ओर से समाचार पत्रों में प्रकाशित कराए गए एक विज्ञापन में सिक्किम को नेपाल और भूटान के साथ अलग देश के तौर पर भारत से अलग बताया गया है. अब दिल्ली सरकार के इस विज्ञापन को लेकर सवाल उठने लगे हैं.

बताया जाता है कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है. इस विज्ञापन में आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में लिखा गया कि भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो. नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

add_052320114944.jpg

इस विज्ञापन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो भी छपी है. कोरोना वायरस से दिल्ली में हुई मौतों के मुद्दे पर विपक्ष के निशाने पर रही अरविंद केजरीवाल की सरकार ने विपक्ष को हमलावर होने का एक और मौका दे दिया है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

गौरतलब है कि साल 1975 में भारत का अंग बना सिक्किम, उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ के गठन से पहले देश का सबसे नया राज्य हुआ करता था. बता दें कि दिल्ली सरकार ने सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स की भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay